अपराधियों को छत्तीसगढ़ में नहीं पकड़ पाना भी चिंताजनक, पेशेवर प्रवृत्ति के हैं अपराधी

 रायपुर, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।।  

अमलेश्वर में लूट और हत्या की घटना को अंजाम देने वाले आरोपी पेशेवर अपराधी हैं और इनके कई अपराधों मैं शामिल रहा होने की जानकारी सामने आई है। छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए यह चिंता की बात हो सकती है कि इस तरह के पेशेवर अपराधी और गिरोह यहां सक्रिय हैं और ऐसे अपराधों को अंजाम दे रहे हैं।इन अपराधियों और गिरोह के पास तमाम तरह के घातक हथियार होने की जानकारियां भी सामने आ रही हैं। 

अमलेश्वर में उक्त घटना में एक निर्दोष को मार डाला गया। लूट के लिए उसकी जान ले ली गई। पेशेवर अपराधियों ने यह कारनामा किया। इस घटना से लोगों को विचलित होना, आक्रोशित होना स्वाभाविक है। स्थानीय लोगों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरेंद्र सोनी ने अमलेश्वर में वहां लगभग 4 साल पहले ज्वेलरी शॉप खोली थी। वह अत्यंत धार्मिक प्रवृत्ति के थे और शिव भक्त थे। प्रतिदिन सपत्नीक स्थानीय मंदिर में जाकर पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाया करते थे। उस दिन दिनदहाड़े बिना किसी कारण के उनकी हत्या कर दी गई।

पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से दो पिस्टल बरामद की गई है जिसका घटना में इस्तेमाल किया गया था। अब जानकारी सामने आ रही है कि इन आरोपियों में से एक अभिषेक कुमार झा पिता अवध किशोर झा उम्र निवासी ग्राम रजला जिला मुजफ्फरपुर पूर्व में भी विभिन्न मामलों में जेल जा चुका है। उस पर कई अपराधों में भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 360, 394, 392, 34 आर्म्स एक्ट 25 27 के तहत मामला विचाराधीन है। वर्तमान में वह धनेली मुजगहन जिला रायपुर का निवासी बताया जाता है।इस आरोपी के एक मामले में पेशी से फरार हो जाने की भी जानकारी सामने आई है। 

अपराधियों ने जिस तरह से घटना को अंजाम दिया उसे एक बात समझ में आई है कि उन लोगों ने घटना के बाद कहीं भी सीखने की कोशिश नहीं की बल्कि सुरक्षित कहीं निकल जाना चाहते थे। उन लोगों के वीडियो फुटेज सामने आ गए थे लेकिन वे लोग लगातार भागते रहे। उन्हें छत्तीसगढ़ में किसी भी जिले में नहीं पकड़ा जा सका, किसी भी बॉर्डर पर नहीं रोका जा सका, बल्कि आरोपियों को उत्तर प्रदेश में पकड़ने में सफलता मिली। छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए यह भी चिंता की बात हो सकती है कि इस राज्य में कहीं भी अपराधियों को रोका नहीं जा सका, और वैसे भी यहां से भागने में सफल हो गए। जबकि इसके वीडियो फुटेज सामने आए हैं कि अपराधी आरंग में ढाबे में रुके । कुछ toll plaza को पार करने के दौरान भी उनका फोटो वीडियो फुटेज सामने आया है।लेकिन यहां कहीं भी अपराधियों को रोका नहीं जा सका।