प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत में 5जी सेवाओं की शुरुआत

 


नई दिल्ली. लंबे इंतजार के बाद आखिरकार भारत में 5G सर्विसेस शुरू हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC 2022) का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी देश में 5G Service की शुरुआत कर दी है। 5G की मदद से हाई स्पीड इंटरनेट डाटा मिलेगा। इस लॉन्चिंग के साथ भारत भी उन देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है, जहां लेटेस्ट जेनरेशन की टेलीकॉम सर्विसेस मिल रही है। प्रधानमंत्री चुनिंदा शहरों में 5जी सेवाओं की शुरुआत किया है। आने वाले कुछ सालों में पूरे देश में इसका विस्तार किया जाएगा। भारत पर 5जी का कुल आर्थिक प्रभाव 2035 तक 450 अरब अमेरिकी डॉलर तक होने का अनुमान है। 4जी की तुलना में 5जी नेटवर्क 10 गुना तेज गति देता है। आज यानी एक अक्टूबर से शुरू हो रहा यह कार्यक्रम 4 अक्टूबर तक चलेगा। इसमें 5G के अलावा कई दूसरे इवेंट्स भी होंगे।
पीएम मोदी के सामने देश की तीन सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनियां कार्यक्रम में 5जी इंटरनेट का एक-एक डेमो प्रदर्शित करेंगी। रिलायंस जियो मुंबई के स्कूल टीचर को महाराष्ट्र, गुजरात और ओडिशा के छात्रों से 5जी नेटवर्क से कनेक्ट करेगी।
बताया जा रहा है कि पहले फेज में अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे शहर में यह सर्विस शुरू की जा रही है। लोग तेज रफ्तार इंटरनेट सेवा का आनंद उठा सकेंगे। हालांकि, आम लोगों तक सेवा को पहुंचने में वक्त लगेगा। बताया जा रहा है कि 2023 तक देश के हर तहसीन तक 5जी सेवाएं पहुंच जाएंगी।

5G सेवा की शुरुआत से कई फायदे होंगे। इसके साथ नए आर्थिक अवसरों और सामाजिक लाभ मिलेंगे। इससे भारतीय समाज के लिए एक परिवर्तनकारी शक्ति बनने की क्षमता प्रदान करता है। यह देश को विकास की पारंपरिक बाधाओं को दूर करने, स्टार्टअप्स और व्यावसायिक उद्यमों की ओर से इनोवेशन को बढ़ावा देने के साथ-साथ ‘डिजिटल इंडिया’ के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। 5G टेक्नोलॉजी के मदद से बिना किसी रुकावट के हाई स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे टेक्नोलॉजी जगत में एक क्रांति के रूप में देखा जा रहा है।