संभाग स्तरीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में छुईखदान राजनांदगांव प्रथम

 

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।।

  जिले में संभाग स्तरीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बी.आई.टी.) दुर्ग में आज हुआ। इस आयोजन में मुख्य अतिथि श्री अरुण वोरा विधायक दुर्ग शहर, विशिष्ठ अतिथि श्रीमती शालिनी रेवेन्द्र यादव अध्यक्ष जिला पंचायत उपस्थित थे।

संभाग स्तरीय आदिवासी महोत्सव में दुर्ग संभाग के 5 जिले दुर्ग, बालोद,बेमेतरा, राजनांदगांव, कबीरधाम के कुल 8 नर्तक दलों द्वारा दड़ामी माडिया, माओपाटा, काकसाड, सरहुल, शैला, हुल्की, करमा नृत्य आदि के माध्यम से अपना कला प्रदर्शित किए। इस आयोजन में प्रतियोगिता का 5 ज्यूरी मेम्बर के द्वारा निर्णय के आधार पर प्रथम एवं द्वितीय दलों का चयन किया गया जिसमें जय बुढ़ादेव करमा नर्तक दल ग्राम कोदवा गण्डई, वि.खं. छुईखदान जिला - राजनांदगांव को प्रथम एवं जय बुढ़ादेव आदिवासी नृत्य दल ग्राम तुमडीसुर जिला- बालोद को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ।

 मुख्य अतिथि श्री अरुण वोरा के द्वारा आदिवासी संस्कृति के विकास के लिए सारगर्भित विचार व्यक्त करते हुए प्रोत्साहित किया गया।  पुरस्कार प्राप्त करने वाले नृत्य दलों को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास दुर्ग के द्वारा पुरस्कार वितरण किया गया तथा पुरस्कार प्राप्त करने वाले  नृत्य दलों को रायपुर में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय आदिवासी महोत्सव में भाग लेने हेतु तैयार रहने के लिए प्रेरित किया गया। उक्त आयोजन अपर कलेक्टर श्रीमती पद्मिनी भोई साहू के मार्गदर्शन तथा श्रीमती प्रियवन्दा रामटेके सहायक आयुक्त आदिवासी विकास दुर्ग के माध्यम से महोत्सव का आयोजन संपन्न हुआ।