वाट्सएप ग्रुप पर चले ऐसे मैसेजः थाने जला दाे...यह भविष्य के साथ खिलवाड़

 


ग्वालियर । आर्मी की नौकरी अब नहीं कर पाओगे, अब सेना बेच दी। वाट्सएप ग्रुप के स्क्रीन शाट पुलिस अफसरों के पास पहुंच गए हैं। इसके बाद उपद्रव में शामिल और युवकों को उपद्रव करने के लिए भड़काने वालों की तलाश के लिए रातभर पुलिस ने दबिश दी है। डीएसपी विजय भदौरिया ने बताया कि रात से ही धरपकड़ शुरू हो गई है। कोचिंग संचालक व उपद्रवी राडार पर हैं।

काेचिंग संचालकों से भरवाए बांड, अब उपद्रव में शामिल हुए छात्र तो जाएंगे जेल: फिजीकल ट्रेनर और कोचिंग संचालकों को चिन्हित कर लिया गया है। ऐसे कोचिंग संचालकों से रात में ही बांड भरवाना शुरू कर दिए गए। इन पर धारा 107, 116 के तहत कार्रवाई की जा रही है। इन्हें सख्त हिदायत दी गई है, अगर अगर इनकी कोचिंग के छात्र किसी भी तरह के प्रदर्शन, उपद्रव में शामिल हुए तो उन्हें जेल भेजा जाएगा।

इन कोचिंग संचालकों का नाम आया सामने: पुलिस टीम इस उपद्रव की जड़ तक पहुंचने के लिए पड़ताल में लगी है। कुछ कोचिंग संचालकों के नाम चिन्हित किए हैं। इन के द्वारा जारी किए गए कुछ मैसेज भी मिले हैं। सूत्रों के मुताबिक इनके नाम संजू, सुनील, बंटी व दो अन्य हैं।

वह उपद्रवी जिनकी हुई पहचानः थान सिंह सखवार निवासी ग्राम भड़ोली मुरैना, मनीष शर्मा निवासी सैनिक का पुरा भिंड,भूरे सिंह गुर्जर निवासी दुल्लपुर थाटीपुर, विश्वजीत सिंह भदौरिया निवासी नारायण विहार गोला का मंदिर, अमित चौहान निवासी चंदनपुरा बिरलानगर, रितिक पांडे निवासी यमुना नगर दर्पण कालोनी, जीतेश कोरी निवासी आरामील बिरलानगर, रविंद्र राठौर निवासी सबलगढ़, अजय शर्मा निवासी पाताली हनुमान, लालू जाटव निवासी मेजर साहब का पुरा, रिठौरा कलां, रोहित पटेल निवासी गोसपुरा, ग्वालियर, रवि तोमर, मयंक चौहान, रिंकू त्यागी निवासी नारायण विहार, हेरी यादव निवासी बगिया, आदित्य सिकरवार निवासी सैनिक कालोनी।

इन धाराओं में एफआइआर: 353- शासकीय कार्य में बाधा,186- लोक सेवक के कर्तव्य में बाधा डालना, 332- लोकसेवक को ड्यूटी के समय धमकाना, 147- भीड़ में शामिल होकर हिंसा करना, 149- समूह में अपराध करना, 294- सार्वजनिक स्थान पर अपशब्द कहना, 506- धमकाना, 188- सरकार के निर्देशों का उल्लंघन करने पर एफआइआर की गई है। पकड़े गए उपद्रवियों से पुलिस सख्ती के साथ पूछताछ कर रही है।