घण्टे भर की वर्षा से जनजीवन प्रभावित, किसानों के चेहरे खिले

 


रायगढ़. शहर एवं ग्रामीण अंचल में सुबह करीब 2 घंटे की मुशालाधार वर्षा से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। एक ओर जहां बारिश किसानों के चेहरे पर मुस्कान ला दी तो वही यह बारिश शहरवासियों के लिए मुसीबतों का सबब बन गया। जिसमे जल भराव एवं बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। वर्षा ने निगम अमला की उदासनीता को उजागर कर दिया है जिसमें जलभराव नही होने के तमाम दावे, सफाई व्यव्यस्था की पोल खोलकर रख दिया।

पंजरी प्लांट में नाली व्यवस्था नहीं होने से तालाब जैसा मंजर है। वर्षा से नालियों का पानी भी सड़क पर आ गया। वही शनिवार की वर्षा व आकाशीय गाज से दर्जनों सब स्टेशन का इंसुलेटर फट गया, यहां यह बताना लाजमी होगा कि यह स्थिति हर वर्ष उपजती है इसके बाद भी लाखों फूंकने के बाद भी विभाग कोई बड़ी व्यवस्था नही कर पाती है जिसकी वजह से बबेवजह अतिरिक्त राशि खर्च करना पड़ रहा है। विगत सप्ताह भर से बारिश जहा छिटपुट मात्रा में हो रही थी शनिवार को दोपहर से बारिश की झड़ी से शहर एवं ग्रामीण अंचल पानी पानी हो गया है। जिससे कृषि विभाग के मुताबिक़ यह बारिश का पानी धान व म-ा का फसल की बोआई के के लिए लाभदायक है। 

कामकाजी लोग छाता रेनकोट लेकर निकले 

आषाढ़ में अच्छी बारिश से किसानों के खेतों किसानी के लिए उपयुक्त पानी उपलब्ध हो गया है। सुबह से करीब 10 बजे तक रुक-रुककर हुई इस बारिश से दिनभर जनजीवन प्रभावित रहा। कामकाजी लोग सप्ताह के पहले दिन सुबह छतरी व रैनकोट पहनकर दफ्तर व दुकान पहुंचे। कई लोग बारिश में फंसे रहे। सुबह से देर शाम तक रुक-रुककर बारिश होती रही, इससे लोग परेशान रहे, पर यह परेशानी सूरज की तपिश व उमस के आगे दूर होकर राहत महसूस किए।