गिरिडीह में दुष्कर्म पीड़िता को उनके परिजनों ने केरोसिन छिड़क कर जलाया

 


गिरिडीह : झारखंड के गिरिडीह में इंसानियत को शर्मनाक करने वाला मामला सामने आया है. जिले के बेंगाबाद थाना क्षेत्र में दुष्कर्म पीड़िता को उनके ही परिजनों ने किरोसिन छिड़क कर मार डालने का प्रयास किया गया. जिससे वह बुरी जल गयी. जानकारी के अनुसार पीड़िता बुधवार रात शौच के लिए खेत गयी थी जहां पर पूर्व मुखिया राजकुमार पासी के पुत्र सुनील चौधरी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.

महिला के शोर मचाने पर उसके परिजन और आस-पड़ोस के लोग इकट्ठा हो गये. जिसके बाद आरोपी दुष्कर्मी मौके से फरार हो गया. गिरिडीह के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनिल कुमार सिंह के अनुसार, घायल महिला ने बताया कि खेत से उसे घर लाने के बाद उसके जेठ व परिवार के लोगों ने उसकी मदद करने की बजाय शरीर पर केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी.

जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गयी. श्री सिंह ने पीड़िता के हवाले से बताया कि उसका पति मानसिक रूप से कमजोर है, जिसके चलते परिवार में उसका कोई प्रभाव नहीं है. पति की उपस्थिति में ही उसे घरवालों ने जलाया. एसडीपीओ ने बताया कि महिला को गंभीर हालत में इलाज के लिए गिरिडीह सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां से उसे धनबाद रेफर कर दिया गया. महिला से दुष्कर्म के आरोपी सुनील चौधरी को गुरुवार की दोपहर गिरफ्तार कर लिया गया. साथ ही, जलाने का आरोपी एक जेठ पकड़ा गया है. उससे पूछताछ हो रही है. महिला को जलाने वाले अन्य परिजन गांव से फरार हैं. सभी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है.

आरोपी भैंसुर का अलग ही दावा

एक आरोपी भैंसुर का कहना था कि रात में घर की बहू की खोजबीन शुरू हुई तो उसे एक घर के पीछे सुनील चौधरी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पाया गया. दोनों को पकड़ कर इसकी जानकारी स्थानीय जनप्रतिनिधि व ग्रामीणों को दी गयी. दोनों को उनके जिम्मे सौंप दिया गया. बिना पुलिस को जानकारी दिये दोनों को गुरुवार तड़के छोड़ दिया गया. उसकी भावज सुबह चार बजे घर आयी और लज्जावश पांच बजे शरीर पर केराेसिन छिड़ककर आग लगा ली. उसे जलते देख बीच-बचाव किया और एंबुलेंस से इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा.

पहले मारपीट कर गला दबाया, फिर जलाया

दुष्कर्म पीड़िता के दो भैंसुर और एक ग्रामीण ने पहले मारपीट की और गला दबाया. ग्रामीणों की मौजूदगी में एक भैंसुर ने उसके शरीर पर केराेसिन छिड़का, तो दूसरे भैंसुर ने आग लगा दी. महिला को जलते देख वहां मौजूद ग्रामीणों ने बीच-बचाव किया. तब तक महिला काफी जल चुकी थी. सूचना पर महिला के मायके वाले पहुंचे और उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल ले गये.

प्राथमिक उपचार के बाद उसे धनबाद रेफर कर दिया गया. महिला का मायका खुखरा थाना क्षेत्र में है. पीड़ित दो बच्चों की मां है. पीड़िता ने नगर थाना पुलिस को बताया कि वह रात 10 बजे घर के बगल के मैदान की ओर शौच करने गयी थी. उसके गांव का सुनील चौधरी उसे जबरन सुनसान स्थान पर ले जाकर कई बार दुष्कर्म किया. जब वह हो-हल्ला करने लगी तो ग्रामीण जुटे. दोनों को कब्जे में कर लिया और उसके साथ मारपीट की.