खुले बोरवेल को ढंका, अनुपयोगी कुएं को भी पाटा

 


दुर्ग। दुर्ग के माली बस्ती क्षेत्र में तीन बोर और कुआं खुला हुआ था। खुले पड़े अनुपयोगी बोर और कुएं में गिरकर लोग किसी तरह की दुर्घटना का शिकार न हो जाए इसे ध्यान में रखते हुए क्षेत्र के पूर्व पार्षद व एल्डरमैन ने इसे ढंकने की मांग की थी।

एल्डरमैन के पत्र को संज्ञान में लेते हुए निगम प्रशासन ने खुले बोर को कैप कवर और कुओं को मिट्टी से पटवा दिया।

जाजंगीर चांपा जिले के मालखरोदा के पिहरीद गांव में एक दस साल का बालक पिछले दिनों खुले बोर में गिर गया था। जिसे शासन प्रशासन द्वारा बड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित बाहर निकाला गया। पिहरीद गांव की तरह दुर्ग निगम के माली बस्ती क्षेत्र में तीन बोर और चार कुआं खुला पड़ा हुआ था।

दरअसल माली बस्ती क्षेत्र के रहवासियों का निगम प्रशासन द्वारा सालभर पहले व्यवस्थापन किया गया था लेकिन अनुउपयोगी बोर और कुएं को खुला छोड़ दिया गया। इस बस्ती के करीब एक किमी की दूरी पर जोगी नगर बस्ती है। जहां करीब पांच सौ परिवार निवासरत है। इनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पदमनाभपुर वार्ड के पूर्व पार्षद व दुर्ग निगम के एल्डरमेन राजेश शर्मा ने निगम प्रशासन का ध्यान इस ओर अवगत कराया। 

एल्डरमैन ने निगम आयुक्त को पत्र लिखकर खुला बोर व कुएं को ढंके जाने की मांग की थी। एल्डरमैन ने यह भी बताया था कि क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट भी नहीं लगी है इस कारण रात के समय अंधेरा छाया रहता है। जोगी बस्ती के लोग रात के समय भी इस क्षेत्र से आना जाना करते हैं। इस पर निगम प्रशासन द्वारा खुले बोर में कैप कवर लगाया गया,वहीं खुले कुएं को मिट्टी डालकर पटवाया गया।

जोगी बस्ती में रहने वालों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर माली बस्ती क्षेत्र में खुले पड़े बोर और कुएं को ढंकने कहा गया था। खुले बोर में कैप कवर लगाकर और कुएं को मिट्टी डालकर पाटा गया है।