अग्निपथ योजना से भाजपा तैयार करना चाहती है अपनी सेना, बोलीं ममता बनर्जी

 


 कोलकाता. अग्निपथ योजना को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि इस योजना के तहत भाजपा अपनी सशस्त्र सेना तैयार कर रही है। टीएमसी चीफ ने कहा, ये अग्निवीर चार साल के बाद क्या करेंगे? भाजपा युवाओं के हाथ में हथियार थमाना चाहती है। ममता बनर्जी ने भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर पलटवार किया। 

विजयवर्गीय ने कहा था कि भाजपा कार्यालयों की सुरक्षा की जिम्मेदारी देते वक्त अग्निवीरों को प्राथमिकता दी जाएगी। ममता बनर्जी ने पूछा है कि क्या भाजपा अग्निवीरों को अपने कार्यालयों में वॉचमैन बनाने की तैयारी कर रही है। इससे पहले जनता दल सेक्युलर के नेता एचडी कुमारस्वामी ने भी अग्निपथ योजना को आरएसएस का प्लान बता दिया था। 

उन्होंने कहा था कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक इस बात की तैयारी कर रहा है कि अग्निपथ योजना से निकलने वाले 10 लाख लोगों में से 75 फीसदी को वे पूरे देश में फैला देंगे। उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि अग्निपथ योजना आरएसएस का अजेंडा है। वे सेना पर नियंत्रण करना चाहते हैं। एचडी कुमारस्वामी ने कहा था कि सेना के आंदर और बाहर दोनों आरएसएस के लोग रहेंगे। इसपर भाजपा ने पलटवार करते हुए इस बयान को सेना का अपमान बताया था।  

बता दें कि अग्निपथ योजना के इतने विरोध के बावजूद केंद्र ने सफा कर दिया है कि इसे वापस नहीं लिया जाएगा। रक्षा मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा कि यह एक प्रगतिवादी कदम है और इसके जरिए युवाओं की फौज तैयार की जाएगी।  यह देश की रक्षा का सवाल है। अग्निपथ की भर्ती का पहला नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है।