भिलाई इस्पात संयंत्र में क्या थमेगा ठेका श्रमिकों की मौत का सिलसिला,?ब्लास्ट फर्नेस में आग लगने की घटना में एक ठेका श्रमिक की मौत से कर्मचारियों में आक्रोश फैला

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।। 

भिलाई इस्पात संयंत्र में लगातार बढ़ती जा रही दुर्घटनाओं से लोगों में आक्रोश फैलता जा रहा है। ब्लास्ट फर्नेस में कल हुई दुर्घटना में एक ठेका श्रमिक की मौत हो गई तो एक अन्य श्रमिक बुरी तरह से झुलस गया है। कर्मचारियों के साथ आम लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि संयंत्र में लगातार दुर्घटनायें क्यों बढ़ती जा रही हैं। विभिन्न कर्मचारी संगठनों में इस संबंध में संयंत्र प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उल्लेखनीय है कि संयंत्र में जो दुर्घटनाये हो रही है उसमें ज्यादातर में ठेका श्रमिकों की जाने जा रही हैं। इससे आरोप लगाए जा रहे हैं कि ठेका श्रमिकों से संयंत्र अत्यंत गंभीर , जोखिम पूर्ण काम लिये जा रहे हैं तथा उन्हें पर्याप्त सुरक्षा उपकरण व सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई जा रही है।


छत्‍तीसगढ़ के भिलाई इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस 7 स्थित स्लैग ग्रेलुलेशन प्लांट में काम कर रहे दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। यहां पर बंकर के नीचे  वेल्डिंग    का कार्य किया जा रहा था। उसी समय आग लग गई । घायलों में परमेश्वर सीका 25 वर्ष के 90 फीसद झुलस गए हैं। डाक्‍टरों के मुताबिक सीका की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है। वही बंकर के नीचे फंसे राहुल उपाध्याय (30) की मौत हो गई है।

दोनों ही ठेका श्रमिक है। जो प्रगति इंजीनियरिंग के लिए यहां पर काम करते थे। घायल परमेश्वर को सेक्टर 9 अस्पताल के बर्न यूनिट में भर्ती किया गया है। जहां पर इलाज किया जा रहा है। वहीं घटना की सूचना मिलते ही भिलाई इस्पात संयंत्र के वरिष्ठ अधिकारी स्थल पर पहुंच गए हैं। फायर ब्रिगेड को भी रवाना कर दिया गया है। मामले की जांच डिप्टी डायरेक्टर हेल्थ एंड सेफ्टी केके द्विवेदी द्वारा शुरू कर दी गई है।