जामताड़ा के ठगों से भी शातिर है ये राजस्थान का सेक्सटार्शन गैंग

 


रायपुर। आनलाइन ठगी में सबसे ज्यादा जामताड़ा के साइबर ठगों का नाम आता है। लेकिन राजस्थान के सेक्सटार्शन गैंग ने अब इसे काफी पीछे छोड़ दिया है। राजधानी रायपुर में अगर बात करें तो आनलाइन ठगी के 100 में से 60 फीसद मामलों में राजस्थान के सेक्सटार्शन गैंग, जबकि 40 फीसद में जामताड़ा व अन्य गैंग शामिल हैं।

राजधानी पुलिस की एक रिपोर्ट के मुताबिक सेक्सटार्शन गैंग का जाल देशभर में तेजी से फैल चुका है। एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट में लगभग पांच शिकायतें रोजाना पहुंच रही हैं। सेक्सटार्शन गैंग के सदस्य राजस्थान के अलवर से वाट्सएप पर युवती की फोटो लगाकर झांसे में लेते हैं। फिर मैसेज भेजकर सेक्स का आफर देते हैं। झांसे में आकर जो वीडियो काल के जरिए संपर्क करते हैं, बाद में ये उन्हें ब्लैकमेल कर, धमकी देकर रुपये वसूलते हैं।

जामताड़ा गैंग के लोग ज्यादातर बैंक से संबंधित फ्राड करते हैं। यानी ओटीपी मांगकर ठगी करते हैं, लेकिन वक्त के साथ लोगों में जागरुकता आई है और उन्होंने ओटीपी देना बंद कर दिया है। वहीं अब सेक्सटार्शन गैंग के झांसे में लोग बहुत जल्दी आ जा रहे हैं।

ऐसे फंसाते हैं जाल में

सेक्सटार्शन गैंग के सदस्य फेसबुक पर खूबसूरत लड़की की फोटो लगाकर रखते हैं। सबसे पहले फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं। फ्रेंड लिस्ट में शामिल होते ही चैटिंग करना शुरू कर देते हैं। इसके बाद बातों में फंसाकर वाट्सएप नंबर मांगते हैं। वीडियो काल से बात करने को कहते हैं।

काल करने पर जैसे ही दूसरी तरफ से काल रिसीव होता है सामने न्यूड गर्ल दिखाई देने लगती हैं। इस दौरान काल करने वाले का वीडियो रिकार्ड कर लिया जाता है। इसके बाद ब्लैकमेल कर राशि मांगना का खेल शुरू हो जाता है। इनकार करने पर रिकार्ड वीडियो को वायरल करने की धमकी देते हैं।

जागरूक रहने की जरूरत

रायपुर एंटी क्राइम सेल के प्रभारी गौरव तिवारी ने कहा कि ठगी होने पर जांच में पहले जामताड़ा गिरोह सामने आता था, लेकिन अब राजस्थान के अलवर से लोगों को अपना निशाना बनाया जा रहा। 100 में से 60 ठगी के मामले यहीं के आ रहे हैं। रोजाना औसतन पांच शिकायतें पहुंच रही हैं। जागरूक रहने की जरूरत है।

बचने के लिए कुछ सावधानियां

- इंटरनेट मीडिया पर अंजान लोगों का फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने से बचें।

- रिक्वेस्ट भेजने वाले को जांच पड़ताल करने के बाद ही फ्रेंड लिस्ट में जोड़े।

- कोई अगर बहुत जल्द आपसे अंतरंग होने का प्रयास करे तो सचेत हो जाएं।

- अपराध होने पर तुरंत पुलिस या साइबर क्राइम पोर्टल पर रिपोर्ट करें।

- इससे पता चलेगा कि जो हुआ उसमें आपने कुछ भी गलत नहीं किया।