बारातियों को लेकर जा रही बोलेरो कुएं की गिरी, सात की मौत

 


छिंदवाड़ा.  जिले के उमरानाला पुलिस चौकी अंतर्गत कोंडामऊ गांव के पास बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात एक भीषण सड़क हादसा हो गया। बारातियों से भरी एक बोलेरो अनियंत्रित होकर कुएं में जा गिरी। इससे बोलेरो में सवार 07 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इस हादसे में तीन लोग घायल हो गए, जिनका अस्‍पताल में उपचार चल रहा है। मृतकों में एक बच्‍चा भी शामिल है।

बताया जाता है कि बोलेरो वाहन के सामने एक बाइक सवार आ गया था, जिसे बचाने के चक्‍कर में यह हादसा हुआ। मरने वालों में दिप्पू उर्फ़ दिपेन्द्र इवनाती (3) निवासी लेंदागोंदी, अजय पिता वलवान इवनाती (32) निवासी लेंदागोंदी, सचिन पिता रामदिन (19 ) धनोरा थाना देवलापार नागपुर, राजकुमार पिता सुखराम चौरे (40) निवासी आगरपुर थाना बिछुआ, सागर उर्फ़ शिवपाल पिता मंगल (31) निवासी जमुनिया बिच्छूया रंजीत पिता बिस्तु उइके ( 35) निवासी लेंदागोंदी और रामनाथ पिता दादूलाल इन्वाती कर्मझिरी थाना कुरई शामिल हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम भाजीपानी में रहने वाले सुखराम भलावी के घर खमारपानी के रहने वाले समेरा सलामे के यहां से बारात आई थी। विवाह समारोह समापन के बाद देर रात्रि लगभग दो बजे लगभग बारातियों से भरी एक बोलेरो खमारपानी वापस लौट रही थी। उनका वाहन कोड़ामऊ गांव के समीप से गुजर रहा था, तभी अचानक उसके सामने एक बाइक सवार आ गया। उसे बचाने के चक्‍कर में चालक संतुलन खो बैठा और बोलेरो सड़क से उतरकर साइड मे बने एक कुएं में जा गिरा। हादसे में मोटरसाइकिल में सवार तीन लोग में एक महिला और बच्चे का उपचार जिला अस्पताल में जारी है। 

रात्रि गश्‍त पर निकलीं उमरानाला पुलिस चौकी प्रभारी कविता पटले सूचना मिलते ही तत्काल घटनास्थल पर पहुंचीं। इधर मोहखेड थाना प्रभारी समेत पुलिस अमला भी पहुचा। पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से बचाव कार्य शुरू किया। कुएं में गिरे चौपहिया वाहन को जब तक बाहर निकाला गया, उसमें सवार सात लोगों की मौत हो चुकी थी। घायलो को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

सड़क हादसे पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी शोक जताया है। उन्‍होंने कहा कि छिंदवाड़ा जिले में सड़क हादसे में 7 अनमोल जिंदगियों के असामयिक निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान देने एवं शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना है। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।