लू से बचाने बुजुर्ग, महिलाओं, बच्चों पर विशेष रूप से ध्यान देने पर जोर, पाटन में विकासखंड स्तरीय बैठक

 

पाटन, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

गर्मी के दिनों में लू से बचाव के लिए आम लोगों को जागरूक करने गांव गांव में अभियान शुरू किया जा रहा है। इस मौसम में बुजुर्ग, महिलाओं तथा बच्चों के स्वास्थ्य का विशेष तौर पर ध्यान रखने को कहा जा रहा है। पाटन में आज लू तापघात से बचाव के लिए विकासखंड स्तरीय बैठक आयोजित की गई जिसमें स्वास्थ्य सेवा से जुड़े अधिकारियों कर्मचारियों को हेल्थ एडवाइजरी का अनिवार्य रूप  से पालन करने को कहा गया है।

लू(तापघात) से बचाव के प्रबंधन के  उद्देश्य से आयोजित विकासखण्ड स्तरीय स्वास्थ्य विभाग की यह बैठक ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट पाटन में हुई।शासन द्वारा जारी लू से बचाव हेतु एडवाइज़री का पालन करने डॉ आशीष शर्मा बीएमओ पाटन ने चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया। चिकित्सा अधिकारियों ने बताया कि सभी उप स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों ,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में समुचित उपचार एवं प्रबंधन की व्यवस्था की गई है।

 समुदाय में लू से बचाव हेतु प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है। इसके साथ साथ अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव, स्वच्छ जल का उपयोग, ताजे एवं स्वच्छ भोजन का उपयोग करने, ईट राइट आदि से संबंधित स्वास्थ्य शिक्षा हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के सीएचओ,आरएचओ एवं बीईटीओ बी एल वर्मा एवं चंद्रकांता साहू ने बताया कि  सभी सेंटर में मौसमी बीमारियों से संबंधित सर्विलेंस किया जा रहा है। बीडीएम टीमन साहू ने बताया कि आईएचआईपी पोर्टल से आईडीएसपी के तहत सूचना मिल रही है। इसे और मजबूत करने सर्विलेंस बढ़ाया जा रहा है। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जे पी मेश्राम के निर्देश पर लू के वल्नरेबल वर्ग जैसे कि बुजुर्गों, गर्भवती माताओं, बच्चों को विशेष सावधानी रखने जागरूकता की जा रही है। बीपीएम  पूनम साहू ने हाई रिस्क गर्भवती माताओं को विशेष सर्विलेंस में रखने, समस्त डिलीवरी पॉइंट्स में सेक्टर चिकित्सा अधिकारियों का रेगुलर निरीक्षण करने चर्चा की एवं टीकाकरण शत प्रतिशत करने सुझाव दिए।

लू(तापघात) से बचाव, प्रबंधन हेतु विकासखण्ड स्तरीय स्वास्थ्य विभाग की बैठक ब्लॉक पब्लिक हेल्थ यूनिट पाटन में हुई।

शासन द्वारा जारी लू से बचाव हेतु एडवाइज़री का पालन करने डॉ आशीष शर्मा बीएमओ पाटन ने चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया। चिकित्सा अधिकारियों ने बताया कि सभी उप स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों ,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में समुचित उपचार एवं प्रबंधन की व्यवस्था की गई है। समुदाय में लू से बचाव हेतु प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है। इसके साथ साथ अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव, स्वच्छ जल का उपयोग, ताजे एवं स्वच्छ भोजन का उपयोग करने, ईट राइट आदि से संबंधित स्वास्थ्य शिक्षा हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के सीएचओ,आरएचओ एवं बीईटीओ बी एल वर्मा एवं चंद्रकांता साहू ने बताया कि  सभी सेंटर में मौसमी बीमारियों से संबंधित सर्विलेंस किया जा रहा है। बीडीएम टीमन साहू ने बताया कि आईएचआईपी पोर्टल से आईडीएसपी के तहत सूचना मिल रही है। इसे और मजबूत करने सर्विलेंस बढ़ाया जा रहा है।  

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जे पी मेश्राम के निर्देश पर लू के वल्नरेबल वर्ग जैसे कि बुजुर्गों, गर्भवती माताओं, बच्चों को विशेष सावधानी रखने जागरूकता की जा रही है।  बीपीएम  पूनम साहू ने हाई रिस्क गर्भवती माताओं को विशेष सर्विलेंस में रखने, समस्त डिलीवरी पॉइंट्स में सेक्टर चिकित्सा अधिकारियों का रेगुलर निरीक्षण करने चर्चा की एवं टीकाकरण शत प्रतिशत करने सुझाव दिए।

स्वास्थ्य केंद्रों ,मितानिनों के पास ओआरएस उपलब्ध रहे। मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक के माध्यम से लू(तापघात)  ,एवं मौसमी बीमारियों (उल्टी दस्त, पीलिया से बचाव एवं प्रबंधन आदि बिषय पर जन जागरूकता एवं माइकिंग सुनिश्चित की जाए।

बीएमओ ने निर्देशित किया कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों में 24 घंटे आपातकालीन सुविधा सुनिश्चित करने चिकित्सा अधिकारी औचक निरीक्षण करें एवं अधिकारियों कर्मचारियों की मुख्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित कराएं। स्वास्थ्य केंद्रों ,मितानिनों के पास ओआरएस उपलब्ध रहे। मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक के माध्यम से लू(तापघात)  ,एवं मौसमी बीमारियों (उल्टी दस्त, पीलिया से बचाव एवं प्रबंधन आदि बिषय पर जन जागरूकता एवं माइकिंग सुनिश्चित की जाए।