ऑनलाईन सट्टा , ऑनलाईन गेंमिग एप्प , व ऑन लाईन फ्राड को रोकने उठाए जायेंगे कड़े

 

 वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जिले के बैंकों के प्रतिनिधियों के साथ  मिटिंग 


▪️ फर्जी बैंक खातों की निगरानी और वाट्सएप्प ग्रुप के माध्यम से सामंजस्य बनाने पर बनी सहमति

▪️ सीसीटीवी कैमरें व अलार्म सिस्टम दुरुस्त करने के दिये गये निर्देश 

दुर्ग, भिलाई।

असल बात न्यूज।। 

जिला पुलिस प्रशासन के द्वारा ऑनलाईन सट्टा , ऑनलाईन गेंमिग एप्प , व ऑन लाईन फ्राड तथा उसमें फर्जी बैंक खातों के इस्तेमाल को रोकने को रोकने कदम उठाए जा रहे हैं तथा इससे निपटने बैंक प्रबंधकों के साथ मिलकर रणनीति बनाई जा रही है। इसपर आगे की रणनीति बनाने आज पुलिस प्रशासन के द्वारा बैंक प्रबंधकों के साथ बैठक की गई। बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा के साथ नई रणनीति तैयार की गई है। वही यह तय किया गया है कि फ्रॉड होने पर पीड़ित ग्राहक को संबंधित दस्तावेज, बैंक के द्वारा तुरंत उपलब्ध कराया जाएगा। 

बैठक में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा ऑन लाईन सायबर फ्राड , ऑन लाईन गेमिंग एप्प , ऑन लाईन सट्टा के प्रकरणों में बैंकिंग से संबंधित आने वाली तकनीकी समस्यायों के संबंध में बैंक प्रतिनिधियों से वर्तमान में ऑन लाईन सट्टा से संबंधित प्रकरणों में फर्जी बैंक खातों के इस्तेमाल न , ऑन लाईन फाड के प्रकरणों में फ्राड की रकम को तत्काल होल्ड करने,  फाड होने की स्थिति में बैंक द्वारा जरूरी आवश्यक दस्तावेज अविलंब आवेदक को  उपलब्ध कराने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। साथ ही साथ सुरक्षा की दृष्टि से बैंक की शाखाओं में व एटीएम के बाहर आवश्यक रूप से सीसीटीवी कैमरा लगाये जाने तथा बैंकों में अनिवार्य रूप से अलार्म सिस्टम लगाये जाने के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई । बैंकों के प्रतिनिधियों व पुलिस के वरिष्ठ के अधिकारियों व कर्मचारियों का सोशल मिडिया के माध्यम से 01 वाट्सएप्प ग्रुप बनाने के संबंध में भी सहमति बनी जिससे की बैंक और पुलिस के बीच अपराध घटित होने की आशंका या घटित होने की स्थिति में तत्काल बेहतर सामंजस्य स्थापित कर रोकथाम की जा सके । 

                  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय , श्री बद्रीनारायण मीणा ( भापुसे ) के द्वारा ऑन लाईन बैंकिंग फाड , ऑन लाईन गेम एप्लीकेशन व ऑन लाईन सट्टा के प्रकरणों में जिले के बैंको से बेहतर सामंजस्य स्थापित करने हेतु मिंटिंग आयोजित करने का निर्देश दिया गया था। जिसके परिपालन में  पुलिस नियंत्रण कक्ष सेक्टर 6 भिलाई में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ( शहर ) श्री संजय कुमार ध्रुव ( रापुसे ) , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ( ग्रामीण ) श्री अनंत साहू ( पुसे ) , उप पुलिस अधीक्षक क्राईम श्री नसर सिद्दकी ( रापुसे ) , एवं प्रभारी सायबर सेल निरीक्षक गौरव तिवारी की उपस्थिति में जिले में संचालित बैंक के प्रबंधकों के साथ बैठक की गई। जिसमें आईसीआईसीआई बैंक , युनियन बैंक , एसबीआई बैंक , बैंक ऑफ बड़ौदा , युकों बैंक , इक्विटॉस स्मॉल फायनेन्स बैंक , उज्जीवन स्मॉल फॉयनेन्स बैंक , कर्नाटका बैंक , जाना स्मॉल फायनेन्स बैंक , बैंक ऑफ महाराष्ट्र , इंडियन बैंक , आईडीबीआई बैंक , सेन्ट्रल बैंक , पंजाब एण्ड सिंध बैंक , कोटक महिन्द्रा बैंक , ए यू स्मॉल फॉयनेन्स बैंक , पंजाब नेशनल बैंक , बंधन बैंक , इण्डईन्ड बैंक , यश बैंक , साउथ इंडियन बैंक , बैंक ऑफ इंडिया , आईडीएफसी बैंक , उत्कर्ष स्मॉल फॉयनेन्स बैंक , एवं एपेक्स बैंक के ब्रांच मैनेजर व ऑपरेशन हेड तकरीबन 65 प्रतिनिधि उपस्थित थे।