महिला आयोग ने बेटी को सम्पत्ति में दिलाया हक

 

*जनसुनवाई में तीन प्रकरणों का हुआ निराकरण


रायपुर ।

असल बात न्यूज़।। 

महिला आयोग की समझाइश पर एक आवेदिका बेटी को पैत्रिक सम्पत्ति में उसका हक प्राप्त हुआ है। मामले में पक्षकारों के बीच आपसी सहमति हो गया और पीड़िता ने नगदी वाली चीजें मिल जाने पर पैतृक संपत्ति में से अपना  हिस्सा नहीं लेने का राजीनामा कर लिया।

  राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने   जनसुनवाई की। जनसुनवाई में 5 प्रकरण रखे गए, जिनमें से 3 प्रकरणों को नस्तीबद्ध किया गया।

       सुनवाई में प्रस्तुत एक प्रकरण में महिला आयोग की समझाइश पर आवेदिका बेटी को पैत्रिक सम्पत्ति में उसका हक प्राप्त हुआ। आवेदिका के अपनी मर्जी से विवाह करने के कारण उसे सम्पत्ति में हक नहीं दिया गया था। आवेदिका के पिता द्वारा उसे सम्पत्ति में हक देने की बात कही गई थी, इस आधार पर उसने आयोग में आवेदन प्रस्तुत किया था। प्रकरण में उभय पक्षों के मध्य नोटरी द्वारा निष्पादित सहमति पत्र आयोग के समक्ष प्रस्तुत किया गया। आवेदिका ने पिता की पुश्तैनी सम्पत्ति के हक त्याग करते हुए अनावेदक से 11 लाख रूपये का चेक, 60 हजार रूपये नगद एवं 50 ग्राम स्वर्ण आभूषण लेकर आपसी राजीनामा किया। इस तरह प्रकरण नस्तीबद्ध किया गया।