कार्यालय, अब पूर्ण उपस्थिति के साथ फिर हो सकते हैं शुरू

 

 अब सभी कार्यालयों के कर्मचारियों की पूर्ण उपस्थिति के साथ शुरू होने के आसार

सभी स्तरों के कर्मचारी बिना किसी छूट के  नियमित आधार पर कार्यालय में उपस्थित होंगे

नई दिल्ली, छत्तीसगढ़।
असल बात न्यूज़।। 
कोविड-19 के संक्रमण के फैलाव में लगातार गिरावट आ रही है जिसके बाद अब राज्य में सभी कार्यालय पूर्ण कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ शुरू होने लग सकते हैं। राज्य में अभी डायरेक्ट्रेट, मंत्रालय के साथ तमाम जिला कार्यालय कर्मचारियों की 50% उपस्थिति के साथ संचालित हो रहे हैं।

 महामारी की स्थिति की समीक्षा की जा रही है और COVID मामलों की संख्या में गिरावट के साथ-साथ सकारात्मकता दर में गिरावट का आकलन किया जा रहा है। इसे देखते हुए सभी कार्यालय को पूर्ण कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ शुरू करने की संभावना बन सकती है। हालांकि इस दौरान भी सभी अधिकारियों कर्मचारियों को कोरोना की गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा । कर्मचारियों को हर समय फेस मास्क पहनना होगा और सीओवीआईडी ​​​​उपयुक्त व्यवहार का पालन करना जारी रखना होगा।

नई दिल्ली में भी सभी शासकीय कार्यालय अब कर्मचारियों के पूर्व परीक्षा शुरू होने जा रहे हैं। पहले यहां 50% कार्यालय उपस्थिति नियम को 15 फरवरी तक बढ़ा दिया गया था। लेकिन, संबंधित तिमाहियों से इनपुट प्राप्त करने और स्थिति की समीक्षा के बाद, कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) द्वारा एक नया ओएम (कार्यालय ज्ञापन) जारी किया जाता है, जिसमें सूचित किया जाता है कि सभी स्तरों पर सभी कर्मचारी बिना किसी छूट के  कल, यानी 7 फरवरी 2022 कार्यालय रिपोर्ट करेंगे।  किसी भी कर्मचारी के लिए अब "घर से काम" का विकल्प नहीं होगा।


इसके पहले अवर सचिव के स्तर से नीचे के सरकारी सेवकों की शारीरिक उपस्थिति वास्तविक संख्या के 50 प्रतिशत तक सीमित थी और शेष 50 प्रतिशत को घर से काम करने के लिए कहा गया था। इसके अलावा, विकलांग व्यक्तियों और गर्भवती महिला कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थित होने से छूट दी गई थी। घर से काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को हर समय टेलीफोन और संचार के अन्य साधनों पर उपलब्ध रहने के लिए कहा गया  था।