कोरोना गाईडलाईन का पालन नहीं करने वाले मदिरा दुकानों, ढाबों और चखना सेंटरों के संचालकों पर कार्रवाई


आबकारी मंत्री का ढाबा, चखना सेंटरों, ठेला-गुमटियों और मदिरा दुकानों में भीड़ को नियंत्रित करने का निर्देश  

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

भीड़ नियंत्रित नहीं करने की वजह से मदिरा दुकानों के आसपास लगने वाले ढाबा तथा चखना सेंटरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई है।

 आबकारी और वाणिज्य कर मंत्री श्री कवासी लखमा ने कोरोना के बढ़ते मामले के मद्देनजर मदिरा दुकानों, ढाबा, चखना सेंटरों और गुमटियों के आसपास अव्यवस्था एवं भीड़ को नियंत्रित करने के निर्देश दिए हैं। आदेश के परिपालन में आबकारी विभाग के अधिकारियों ने कोरोना गाईडलाईन का पालन नहीं करने वाले तीन ढाबा और सात चखना सेंटरों व ठेला गुमटियों के संचालकों पर कार्रवाई की है। इन गुमटियों और ढाबों पर आबकारी अधिनियम की धारा 36 (क) के तहत 2 प्रकरण तथा धारा 36 (ग) के तहत 3 प्रकरण कायम किए गए हैं।  

उल्लेखनीय है कि आबकारी विभाग द्वारा कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मदिरा दुकानों, ढाबों, ठेला-गुमटियों तथा चखना सेंटरों में मदिरा के अवैध कारोबार की जांच कर कार्रवाई की जा रही है। राजधानी रायपुर के ताज ढाबा बेमता, सोनकर ढाबा बेमता, साहू ढाबा एवं प्रिंस ढाबा की जांच कर कार्रवाई की गई है।  

आबकारी आयुक्त  निरंजन दास ने आज यहां बताया कि मदिरा दुकानों के आसपास अव्यवस्था एवं भीड़ को नियंत्रित करने हेतु आबकारी विभाग द्वारा अधिकारियों का दल गठित कर मंदिरा दुकानों के आस-पास संचालित होने वाले चखना सेंटर्स व उसमें होने वाली भीड पर नियंत्रण करने के दृष्टिकोण से लगातार कार्यवाही की जा रही है। राजधानी रायपुर के देशी मदिरा दुकान लाभाण्डी, विदेशी मदिरा दुकान शंकर नगर, देशी-विदेशी मदिरा दुकान सड्डू, देशी-विदेशी मंदिरा दुकान मोवा, देशी-विदेशी मदिरा दुकान फाफाडीह, देशी-विदेशी मदिरा दुकान डूमरतराई और देशी-विदेशी मदिरा दुकान माना तथा उनके आसपास में संचालित चखना सेंटर्स-ठेला गुमटी पर कार्यवाही कर उनके विरुद्ध आबकारी अधिनियम के तहत कार्यवाही कर प्रकरण दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही चखना सेंटरों से सामग्री जप्त कर ठेला-गुमटी को दुकानों से अन्यत्र हटाने की कार्यवाही निरंतर की जा रही है। होटल, ढाबों में भी मदिरा के अवैध कारोबार की जाँच की जा रही है। राजधानी रायपुर अंतर्गत ताज ढाबा बेमता, सोनकर बाबा बेमता, साहू ढाबा एवं प्रिंस ढाबा की जांच के बाद कार्रवाई की गई है।