कृषि विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास एवं कौशल उन्नयन हेतु एक दिवसीय वेबिनार आयोजित

 युवाओं का व्यक्तित्व विकास एवं कौशल उन्नयन समय की मांग: डाॅ. सेंगर


रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

 इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. एस.एस. सेंगर ने कहा है कि कृषि छात्रों के लिए रोजगार की असीम संभावनाएं हैं, इन संभावनाओं को तलाशने और तराशने में व्यक्तित्व विकास एवं कौशल विकास का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का संपूर्ण विकास एवं उनके व्यावसायिक कौशल में वृद्धि आज के समय की मांग है। डाॅ. सेंगर आज यहां कृषि विश्वविद्यालय के कैरियर विकास केन्द्र द्वारा विद्यार्थियों के लिए ‘‘कृषि छात्रों के लिए व्यावसायिक संभावनाएं एवं कौशल विकास’’ विषय पर आयोजित एक दिवसीय वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। इस वेबिनार का आयोजन राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना के तहत किया गया। 

वेबिनार को संबोधित करते हुए डाॅ. सेंगर ने कहा कि देश मंे बढ़ती आबादी तथा शिक्षित युवाओं की बढ़ती संख्या के कारण बेहतर रोजगार अथवा व्यावसाय प्राप्त करना चुनौतीपुर्ण होता जा रहा है। ऐसे में युवाओं में व्यावसायिक कौशल तथा व्यक्तित्व विकास किया जाना आवश्यक है। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि वे विषय वस्तु के ज्ञान के साथ ही व्यावसायिक कौशल में वृद्धि करें तथा अपने व्यक्तित्व को प्रभावशाली बनाने का प्रयास करें। उनहोंने कहा कि किताबों का अध्ययन, हमेशा कुछ नया सीखने की ललक, अपने आस-पास के परिवेश का निरीक्षण, दूसरों को सुनने की आदत, साथियों के साथ मिल-जुल कर कार्य करने की प्रवृत्ति व्यक्तित्व के विकास में सहायक होती है। इसके साथ ही स्वंय पर विश्वास, भय पर जीत, लक्ष्य के प्रति समर्ण तथा स्वयं को बदलने की इच्छाशक्ति भी व्यक्तित्व के विकास में योगदान देती है। डाॅ. सेंगर ने कहा कि आज के प्रतिस्पर्धात्मक समय में रोजगार पाने के लिए विद्यार्थियों में किताबी ज्ञान के साथ-साथ व्यावसायिक कौशल का होना भी अति आवश्यक है। उन्होंने विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास एवं कौशल उन्नयन हेतु कैरियर डेवलपमेन्ट सेन्टर द्वारा वेबिनार का आयोजन करने के लिए अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. जी.के. श्रीवास्तव एवं कैरियर डेवलपमेन्ट सेन्टर के प्रभारी डाॅ. एस.एस. टुटेजा को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। 

वेबिनार के आरंभ में अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. जी.के. श्रीवास्तव ने विद्यार्थियों को इस एक दिवसीय वेबिनारे के उद्धेश्य एवं महत्व की जानकारी दी। स्वामी विवेकानंद कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डाॅ. विनय पाण्डेय ने इस अवसर पर कहा कि युवाओं के रोजगार एवं व्यावसाय प्राप्त करने में अच्छे संपे्रषण की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को अपनी संप्रेषण क्षमता में बढ़ोतरी करनी चाहिए। वेबिनार के प्रमुख वक्ता के रूप में जियो लाईफ एग्रीटेक इण्डीया प्राइवेट लिमेटेड कम्पनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. अमित त्रिपाठी ने कृषि के क्षेत्र में रोजगार की संभावनाओं पर व्याख्यान दिया। इसके साथ ही प्रसिद्ध प्रेरक वक्ता श्री उदय राठौर ने बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में कृषि छात्रों के लिए व्यावसायिक संभावनाओं के बारे में व्याख्यान दिया।