सरकार की अन्याय पूर्ण और दमनकारी नीति के चलते वन प्रबंधन से जुड़े मजदूरों को अंधेरे में मनानी पड़ी दिवाली : लता उसेंडी

 रायपुर जगदलपुर ।

 असल बात न्यूज़।।

भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री लता उसेंडी ने भी कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य में अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के लोगों का भारी शोषण हो रहा है । इस वर्ग के साथ राज्य में प्रत्येक काम में अन्याय हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में इस वर्ग के बड़ी संख्या में युवा, महिलाएं वन प्रबंधन, वन्यजीव प्रबंधन के काम में लगी हुई हैं इन्हें समय पर मजदूरी नहीं मिल रही है। सरकार की दमनकारी नीति के चलते इन मजदूरों को दीपावली त्योहार के अवसर पर भी मजदूरी दी नहीं गई और इन मजदूरों को  दीवाली त्योहार विवश होकर अंधेरे में मनाना पड़ा है।

भाजपा नेत्री लता उसेंडी ने कहा कि राज्य में किस तरह से काम किए जा रहे हैं, मजदूर वर्ग का किस तरह से शोषण किया जा रहा है, हमारे जनजाति वर्ग के लोगों का किस तरह से शोषण किया जा रहा है यह ऐसे सब उदाहरणों से पता चलता है।  इस वर्ग के मजदूरों को जानबूझकर समय पर मजदूरी नहीं दी जा रही है ताकि यह वर्ग परेशान होता रहे। वन प्रबंधन के कार्य में कैंपा के तहत काम करने वाले को उनकी। मजदूरी नहीं दी जा रही है।  विभाग का पैसा दूसरे कार्यों में डायवर्ट कर दिया जा रहा है ताकि इन मजदूरों को  समय पर मजदूरी भी ना दी जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार इस वर्ग के लोगों का शोषण करेगी , मजदूरों का शोषण करेगी तो सरकार का भला नहीं होने वाला है। हजारों मजदूरों ने अपनी दिवाली, अपना प्रमुख त्यौहार अंधेरे में मनाया है इसकी आह सरकार को जरूर लगेगी।

उन्होंने कहा कि सरकार को अपने भले के अलावा कुछ नहीं दिख रहा है। आने वाले चुनाव में सरकार को आम जनता इसका करारा जवाब देगी। मजदूरों ने अपनी दिवाली अंधेरे में मनाई है। अपने प्रमुख त्योहार को मनाने के लिए उन्हें मजदूरी नहीं दी गई। मजदूरों को उनके काम का पारिश्रमिक नहीं दिया जा रहा है तो इसका  परिणाम सरकार को भुगतना पड़ेगा।