राज्य में रबी फसलों की बोनी शुरू,18.50 लाख हेक्टेयर में फसलों की बुआई का लक्ष्य

 

रायपुर ।

असल बात न्यूज।।

 राज्य में रबी फसलों की बोनी शुरू हो गई है। 25 अक्टूबर तक 20 हजार हेक्टेयर में रबी फसलों की बोनी की जा चुकी है, जिसमें दलहनी फसलों का रकबा सर्वाधिक है। इस साल राज्य में 18 लाख 50 हजार हेक्टेयर में रबी फसलों की बुआई का लक्ष्य कृषि विभाग द्वारा निर्धारित किया गया है, जो बीते वर्ष के रबी रकबे को लगभग 3 लाख हेक्टेयर अधिक है। बीते रबी सीजन में 17 लाख 45 हजार 680 हेक्टेयर में रबी फसलों की बोनी हुई थी। 

कृषि विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में अब तक जौ, ज्वार एवं अन्य अनाज के फसलों की बोनी 560 हेक्टेयर में, दलहनी फसलों की खेती 11 हजार 450 हेक्टेयर में, तिलहनी फसलों की खेती 2100 हेक्टेयर में, गन्ना की बुआई 830 हेक्टेयर में तथा साग-सब्जी एवं अन्य फसलों की बुआई 5 हजार हेक्टेयर में हो चुकी है। 

रबी सीजन वर्ष 21-22 में अनाज की फसलों की बुआई के लिए 5 लाख 10 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें गेहूं 2.50 लाख हेक्टेयर में, ग्रीष्मकालीन धान की बुआई एक लाख हेक्टेयर में, मक्का 1.50 लाख हेक्टेयर, जौ-ज्वार एवं अन्य फसलों की बुआई 10 हजार हेक्टेयर शामिल है। रबी सीजन में चना की खेती के लिए 4 लाख हेक्टेयर, मटर के लिए 55 हजार हेक्टेयर, मसूर के लिए 40 हजार हेक्टेयर, मूंग के लिए 35 हजार, उड़द के लिए 30 हजार, तिवड़ा के लिए 2 लाख 30 हजार, कुल्थी के लिए 30 हजार हेक्टेयर इस प्रकार दलहनी फसलों की खेती के लिए कुल 8 लाख 20 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य रखा गया है। इसी प्रकार तिलहनी फसलों में अलसी, राई, सरसों, तिल, सूरजमुखी, कुसुम एवं मूंगफली की खेती के लिए 2 लाख 80 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। गन्न की खेती के लिए 45 हजार हेक्टेयर तथा साग-सब्जी की खेती के लिए 01 लाख 70 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य है।