ध्यान रखिए, कोरोना खत्म नहीं हुआ है, sector 9 hospital लाया गया कोरोना के थर्ड स्टेज का मरीज

 रायपुर, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।।

0  विशेष संवाददाता

नए संकमितों के मिलने की संख्या कम होने के साथ लोगों में लापरवाहिया बढ़ती नजर आ रही है। यह लापरवाही सभी के लिए बड़े खतरे का कारण बन सकती है। वास्तविकता है कि कोरोना के संक्रमण का फैलाव अभी भी खत्म नहीं हुआ है। प्रतिदिन ही इसके छिटपुट मरीज मिल रहे हैं। प्रतिदिन इक्का-दुक्का मरीज मिलना ही इस बात का संकेत है कि कोरोना खत्म नहीं हुआ है। कोरोना का वायरस छिपा हुआ है।  दिक्कत यह है कि कोरोना का वायरस एक से दूसरे व्यक्ति तक बड़ी तेजी से फैलने लगता है, तब इसे नियंत्रित कर पाना अत्यंत कठिन हो सकता है। पता चला है कि सेक्टर 9 भिलाई अस्पताल में कोरोना का एक मरीज लाया गया। उसे सांस लेने में भारी तकलीफ हो रही थी। तब उसे उपचार के लिए यहां लाया गया ।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की नजर अभी महाराष्ट्र प्रदेश की लगी हुई है। वहां कोरोना के संक्रमण का फैलाव फिर से तेज गति से बढ़ता जा रहा है। कुछ लोग इसे, कोरोना के तीसरी लहर के  आगमन से भी जोड़कर देख रहे हैं। महाराष्ट्र के शहरों में कोरोना के संक्रमण का फैलाव बढ़ने से छत्तीसगढ़ में भी चिंता बढ़ने  लगती है।

प्रात जानकारी के अनुसार भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य चिकित्सालय sector 9 मेे कोरोना के एक संक्रमित को भर्ती कराया गया है। उसे सांस लेने में भारी तकलीफ हो रही है।उसे सांस देने के लिए ऑक्सीजन लगाया गया है। उसकी उम्र 50 से 55 साल के बीच बताई जाती है। यह स्पष्ट नहीं हो सक है कि उसने कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन करवाया है कि नहीं। अच्छी बात यह है कि उसे दोपहर में लगभग 3:00 से 4:00 के बीच लाया गया, तब हॉस्पिटल में मरीजों की अधिक भीड़ नहीं थी। लेकिन वहां कुछ मरीज जरूर थे। कोरोना संक्रमित की पहले ओपीडी में प्रारंभिक जांच की गई। वहां अधिक मरीज नहीं होने से कोरोना के संक्रमण के एक से दूसरे तक फैलने का खतरा, आशंका नहीं है। बताया जाता है कि वह पहले यहीं कहीं किसी निजी चिकित्सालय में उपचार हेतु भर्ती था, वहां हालात बिगड़ते देख उसे सेक्टर नाइन  हॉस्पिटल लाया गया। कोरोना का संक्रमण एक से दूसरे में बड़ी तेजी से फैलता है। और पर्याप्त उपचार नहीं मिलने पर वह किसी के लिए भी जानलेवा साबित हो सकता है। इससे यह समझने की जरूरत है कि लापरवाही बरती गई तो वह सभी के लिए घातक साबित हो सकती है।  उस संक्रमित के संपर्क में क्या और कोई भी आया है इसकी contact tracing  की जा रही है।

हॉस्पिटल के सूत्रों ने बताया कि यहां हर दूसरे-  तीसरे दिन कोरोना का एक संक्रमित आ रहा है। यह भी उल्लेखनीय है कि दुर्ग जिले में एक दिन पहले 9 संक्रमित मिले हैं। राजनांदगांव जिले में entrance centre पर दूसरे राज्यों से आने वाले सभी लोगों की  अनिवार्य रूप से टेस्टिंग की जा रही है।