श्रमिकों के कल्याण की दिशा में उठाया जा रहा है कदम-श्री सुशील सन्नी अग्रवाल

 

*निर्माण श्रमिकों के लिए खुला पंजीयन काउन्टर, बीओसी अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने किया शुभारंभ


रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

  प्रदेश के श्रमिकों के कल्याण की दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा आज पंजीयन काउन्टर का शुभारंभ किया गया। निर्माण श्रमिकों को पंजीयन कराने में आ रही समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल (श्रम विभाग) के अध्यक्ष श्री सुशील सन्नी अग्रवाल ने नगर पालिक निगम रायपुर अतंर्गत जोन क्रमांक 02 फाफाडीह में पंजीयन काउन्टर का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश के सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि निर्माण श्रमिक वर्ग की भी अनेक समस्याएं हैं। बीओसी द्वारा उनकी सभी समस्याओं को ध्यान रखकर उनके कल्याण की दिशा में कदम उठाया जा रहा है। पंजीयन काउन्टर खुलने से श्रमिकों को समय पर शासन की योजनाओं और सुविधाओं की जानकारी मिलेगी। अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने इसके लिए श्रमिकों को बधाई भी दी। 

  निर्माण श्रमिकों के नये पंजीयन काउन्टर के शुभारंभ अवसर पर उपस्थित निर्माण श्रमिकों ने पंजीयन काउन्टर खुलने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा हमारे हित में कार्य किया जा रहा है। काउन्टर में पंजीयन के बाद आसानी से कार्ड बन जाने से हमें शासन की योजनाओं का लाभ मिल पाएगा। अध्यक्ष श्री अग्रवाल और अन्य अतिथियों ने निर्माण श्रमिक श्री मोहित यादव, अयाज, रूबीना शेख, शेख हमशेर, सूरज कुमार तिवारी, रमजान , रासिया बानों एवं अन्य को तत्काल पंजीयन कार्ड का वितरण भी किया। इस दौरान श्रमिकों ने छत्तीसगढ़ सरकार एवं श्रम विभाग के मार्गदर्शन में गरीब निर्माण मजदूरों को अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराने पर मंडल के अध्यक्ष श्री सुशील सन्नी अग्रवाल के प्रति भी आभार व्यक्त किया।

 पंजीयन काउन्टर के शुभारंभ कार्यक्रम में जोन अध्यक्ष, एमआईसी सदस्य, पार्षदगण श्री हरदीप सिंह होरा (बंटी) श्री गिरीश दुबे, श्री सुन्दर जोगी, श्री सुरेश चन्नावर, मोहम्मद अनवर हुसैन, अंजनी राधेश्याम विभार, सुनील बुवाल,अरूण जंघेल, श्री के सूरज, श्री विनय मिश्रा एवं जनप्रतिनिधिगण विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।