कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष की पहल पर एक पीड़ित राज मिस्त्री को उसके काम की बकाया राशि मिलने का रास्ता खुला

 लौट आईं राज मिस्त्री की खुशियां 


रायपुर। असल बात न्यूज।।

राजधानी रायपुर में एक निर्माण कर्मकार ने अपने नियोजक से काम का पैसा नहीं मिलने से व्यथित होकर जहर का सेवन कर लिया। तुरंत समुचित उपचार की सुविधा मिल जाने से उसकी जान बच गई है। उसकी जिंदगी सही सलामत हो रही  है तो वहीं अब छत्तीसगढ़ राज्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष श्री सुशील सन्नी अग्रवाल की पहल से उस पीड़ित राज मिस्त्री को उसकी बकाया राशि मिलने का रास्ता खुल गया है। इससे राज मिस्त्री के चेहरे पर खुशियों वापस लौटती दिख रही है। मंडल अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने अस्पताल प्रशासन को पीड़ित का समुचित इलाज करने को भी कहा है।

छत्तीसगढ़ राज्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के के द्वारा निर्माण कर्मकारों को समुचित सुविधा उपलब्ध कराने के साथ उनकी मजदूरी का भुगतान सुनिश्चित करने के भी प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे ही प्रयासों के फलस्वरूप एक राज मिस्त्री को यहां उसके नियोजक से बकाया पूरी राशि प्राप्त होने का आश्वासन मिल गया ।पीड़ित राजमिस्त्री का अभी  अस्पताल में उपचार चल रहा है। मंडल के अध्यक्ष श्री  सुशील सन्नी अग्रवाल उसे देखने अस्पताल पहुंचे वहां तब उसने उन्हें अपनी व्यथा बताई। इसके बाद मंडल अध्यक्ष श्री अग्रवाल के पहल से पीड़ित को उसकी बकाया राशि मिलने का रास्ता खुल गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजधानी रायपुर में कबीर नगर निवासी राजमिस्त्री देवेंद्र नारायण वर्मा ने अपने नियोजक से काम की बकाया राशि लंबे समय से नहीं मिलने की वजह से व्यथित होकर  जहर का सेवन कर लिया।  पीड़ित निर्माण कर्मकार से बातचीत करते हुए मंडल अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने उसकी समस्या के बारे में भी जानकारी ली। तब उसने उन्हें अपनी व्यथा बताइ। पीड़ित ने उन्हें बताया कि वह सोन डोंगरी में मकान बनाने जाता था। मकान मालिक ने उसे लगभग एक लाख रुपए का भुगतान नहीं किया। उसकी वजह से उसे अपना परिवार पालने में दिक्कत हो रही थी।

बताया जाता है कि मंडल अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने  पीड़ित के मकान मालिक से बातचीत की जिस पर उसने बकाया राशि का भुगतान करने का आश्वासन दिया है। मंडल अध्यक्ष श्री अग्रवाल ने इस दौरान अस्पताल के चिकित्सकों को पीड़ित का समुचित इलाज करने को भी कहा है।