मोदी के कार्यकाल को सेवा जतन के रूप में मनाना भाजपा का जनता से क्रूर मजाक -मोहन मरकाम

 

प्रधानमंत्री के रूप में मोदी कोरोना की लड़ाई में अकर्मण्य साबित नोटबंदी, जीएसटी से देश को पीछे धकेला

रायपुर ।असल बात न्यूज़।।

 भाजपा द्वारा मोदी के जन्मदिन और सत्ताधीश के रूप में उनके 20 वर्ष को सेवा और समर्पण के रूप में मनाए जाने को कांग्रेस ने दशक का सबसे बड़ा झूठ बताया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में मोदी के कार्यकाल विवादों और असफलता से भरे रहे है। मोदी के कार्यकाल को सेवा जतन के रूप में मनाना भाजपा का जनता से क्रूर मजाक है।

उन्होंने कहा कि जिस मोदी के राज में भारत में लोग कोरोना से इलाज के अभाव में मर गए। जिन मोदी के राज में जनता ऑक्सीजन और दवाइयों के अभाव में मर गयी। जिन मोदी के राज में मजदूर भूखे प्यासे हजारों किमी पैदल चलने को मजबूर हुए। जिन मोदी के राज में सैकड़ो लोग अपने घरों को नहीं पहुंच पाए रास्ते में दम तोड़ दिए। जिन मोदी के राज में जनता को अंतिम संस्कार तक नसीब नहीं हुआ, लाशें नदियों में बहा देने को जनता मजबूर हो उन नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस और सत्ता के कार्यकाल को सेवा जतन के रूप में मनाया जाना देश की जनता के जले पर नमक छिड़कने के समान है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में मोदी भारत के सबसे असफल और अकर्मण्य प्रधानमंत्री साबित हुए। जीएसटी, नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद करने के बाद कोरोना की महामारी मोदी और उनकी सरकार ने जनता को उसके हालात पर मरने छोड़ दिया था।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के द्वारा संकट के समय जिम्मेदारी से भागने की नीति के कारण कोरोना महामारी का मुकाबला भारत एक राष्ट्र के रूप में नही कर पाया, देश की अलग-अलग राज्य सरकारें अपने स्तर पर अपने प्रदेश की जनता को कोरोना महामारी से बचाने जूझती रही लेकिन केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री सिर्फ हवाई बातों में लगे रहे। जब देश की जनता को मोदी सरकार से सेवा जतन की उम्मीद थी तब मोदी और उनकी सरकार ने न दवाइयों पर ध्यान दिया, न इलाज पर और न ही लोगो को राहत पहुंचाने की कोई ठोस कार्य योजना बनाया। मोदी राज में लोग ऑक्सीन और अस्पताल में बेड और दवाइयों के लिए भटकते रहे। ऐसे प्रधानमंत्री के कार्यकाल को सेवा जतन से जोड़ना भद्दा मजाक है।

 प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप मोदी का कार्यकाल देश की जनता कभी याद नही करना चाहती। गोधरा के भीषण नर संहार से लेकर बेस्ट बेकरी और गुजरात के दंगे मोदी की तत्कालीन सरकार के ऊपर लगे वह धब्बे है जिसे कभी धोया नही जा सकता। मोदी ऐसे मुख्यमंत्री रहे है जिनका एक मंत्री अदालत द्वारा तड़ीपार घोषित किया गया, दूसरे एक मंत्री को अदालत ने दंगो और कत्ले आम के आरोप में फांसी तक की सजा सुनाई थी बाद में अपील में भले फैसला बदल गया लेकिन इतना गम्भीर आरोप देश के किसी मुख्यमंत्री के सरकार के मंत्रियों पर नही लगा। मोदी का प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल को भारतीय जनता पार्टी को भारत के दुःह स्वप्न के रूप में मनाना चाहिए।