राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ ने भर्ती संबंधी भ्रामक विज्ञापनों से बचने की अपील की

 

रायपुर, दुर्ग। असल बात न्यूज।

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के द्वारा मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भर्ती के लिए अभी कोई विज्ञापन प्रकाशित नहीं किया गया है। विभाग का नाम लेकर इस विभाग में भर्ती से संबंधित एक विज्ञापन सोशल मीडिया पर प्रसारित किया जा रहा है। विभाग ने बेरोजगारों से ऐसे फर्जी विज्ञापन के झांसे में नहीं आने की अपील की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों पर मिशन के द्वारा मध्य प्रदेश तथा छत्तीसगढ़ में 6000 से अधिक पदों पर भर्ती करने का विज्ञापन चल रहा है। मिशन के संयुक्त संचालक नेशिक्षित बेरोजगारों से ऐसे विज्ञापन के झांसे में नहीं आने की अपील करते हुए कहा कि अभी इस तरह की भर्ती के लिए कोई विज्ञापन जारी नहीं किया गया है।

सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों में प्रसारित राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले की प्रत्येक ग्राम सभा में 6575 पदों की भर्ती संबंधी विज्ञापन का राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ ने खंडन किया है। मिशन के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि भर्ती के लिए इस तरह का कोई विज्ञापन जारी नहीं किया गया है। यह विज्ञापन पूर्णतः निराधार है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ ने लोगों से इस तरह के किसी विज्ञापन के बहकावें में नहीं आने की अपील की है। मिशन स्पष्ट रूप से इस भर्ती विज्ञापन का खंडन करता है। भारत सरकार द्वारा 1 मई 2013 के बाद से राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन का नाम परिवर्तित कर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर दिया गया है। वर्तमान में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन का कोई अस्तित्व नहीं हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ लोगों से अपील करता है कि वे इस तरह के आधारहीन व भ्रामक विज्ञापनों से बचें। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ द्वारा पदों की भर्ती हेतु जो भी विज्ञापन जारी किया जाता है, उसे विभागीय वेबसाइट www.cghealth.nic.in पर ही अपलोड किया जाता है।