सेंट थॉमस महाविद्यालय में अनुसंधान पद्धति पर ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम का समापन

 

भिलाई। असल बात न्यूज।

सेंट थॉमस महाविद्यालय के वाणिज्य स्नातकोत्तर विभाग एवं श्रीमती राधादेवी गोयनका कॉलेज फॉर विमेन अकोला महाराष्ट्र के सयुंक्त तत्वावधान में अनुसंधान पद्धति पर 15 दिवसीय ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम  आयोजित किया गया| इसके समापन समारोह में  पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के शारीरिक शिक्षा प्राध्यापक, विधि महाविद्यालय एवं छात्र कल्याण अधिष्ठाता डॉ राजीव चौधरी मुख्य अतिथि थे|

 उन्होंने इस बात पर ध्यान केन्द्रित किया कि शोधार्थियों को किसी भी परिस्थिति में अपने अनुसंधान को बिगड़ने नही देना चाहिए एवं उन्हें पूरी लगन के साथ इस बात पर धयान देना चाहिए कि उनका शोध कार्य समाज के काम आ सके| उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि हमें सांख्यिकी की सीमाओं का भी ध्यान रखना चाहिए| महाविद्यालय के प्रशासक रेवेरेंट फादर डॉ जोशी वर्गीस ने क्रिटिकल थिंकिंग पर जोर देते हुए कहा कि आज के परिदृश्य में सोशल मीडिया पर आँख मूंदकर विश्वास कर लेते हैं| उन्होंने कहा कि एक शोधकर्ता के रूप में अनुसंधान के अलावा हमें अपने दैनिक जीवन में भी क्रिटिकल थिंकिंग को अपनाना चाहिए| महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एम. जी. रोईमोन ने दोनों ही महाविद्यालय के आयोजकों को कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए बधाई दी एवं इस अवसर पर उपस्थित हिस ग्रेस डॉ जोसेफ मार डायनोशियस मेट्रोपोलिटन मैनेजर बिशप सेंट थॉमस महाविद्यालय का अभिवादन किया|

 MOU पार्टनर श्रीमती राधादेवी गोयनका कॉलेज फॉर विमेन अकोला महाराष्ट्र के प्राचार्य देवेंद्र व्यास ने दोनों ही महाविद्यालयों के आयोजकों के प्रयासों की सराहना की एवं कहा कि आगे भी इसप्रकार की सयुंक्त गतिविधियाँ आयोजित की जाएगी| सेंट थॉमस महाविद्यालय के वाणिज्य स्नातकोत्तर विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ रिंसी अब्राहम ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया| इस 15 दिवसीय कार्यक्रम में अनुसंधान के विभिन्न पहलुओं जैसे कि अनुसंधान की अवधारणा, अनुसंधान का प्रारूप, आंकड़े संकलन की पद्धति, समस्या की पहचान, शीर्षक, उद्देश्य, न्यादर्श, परिकल्पना परिक्षण, एसपीएसएस एवं प्रतिवेदन लेखन आदि पर चर्चा की गयी| कार्यक्रम के वक्ता सेंट थॉमस महाविद्यालय  से डॉ सपना शर्मा, डॉ नीलम गांधी, डॉ ज्योत्सना गडपायले, श्री मज्जू जॉय, डॉ अनुपमा गंगराडे डॉ सोनिया पोपली एवं श्रीमती राधादेवी गोयनका कॉलेज से डॉ रूपा गुप्ता एवं सुश्री सोनल कामे थी| कार्यक्रम की संयोजक एवं सेंट थॉमस महाविद्यालय के वाणिज्य स्नातकोत्तर विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सपना शर्मा ने 15 दिनों में विभिन्न वक्ताओं द्वारा दिए गये प्रस्तुतिकरण की संक्षिप्त जानकारी दी| प्रतिभागियों ने अपने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि यह कार्यक्रम उनके लिए बहुत सहायक रहा| कार्यक्रम के सह-संयोजक एवं वाणिज्य विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अंबादास बी पांडे ने धन्यवाद ज्ञापन दिया| सुश्री सोनल कामे ने कार्यक्रम का संचालन किया| महाविद्यालय प्रबंधन ने दोनों ही महाविद्यालयों के आयोजकों को कार्यक्रम के लिए बधाई दी|