स्वरुपानंद महाविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय बायोडायवसीर्टी दिवस का आयोजन

 


भिलाई। असल बात न्यूज।


स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय, हुडको, भिलाई में वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा ‘इनडेन्जर्ड स्पीशिस’ दिवस एवं अंतर्राष्ट्रीय बायोडायवर्सीटी दिवस मनाया गया। 

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुये डाॅ. निहारिका देवांगन विभागाध्यक्ष वनस्पति शास्त्र ने बताया प्रकृति की जैवविविधता एवं लुप्त प्राय प्रजातियों के संरक्षण एवं संवर्धन के प्रति जागरुकता उत्पन्न करने के उद्देश्य से परिचर्चा एवं डिजिटल फ्लोरल गैलेरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिससे विद्यार्थी जैव विविधता एवं प्रजातियों के लुप्त होने के दुष्परिणामों को बताया जा सके।

प्राचार्य डाॅ. हंसा शुक्ला ने कहा हमें गैर कानूनी तरीके से मिलने वाले हाथी दांत, जंगली पशुओं के खाल, चंदन की लकडी को नहीं खरीदना चाहिए इससे जानवरों का शिकार कम होगा वे सुरक्षित रहेंगे।

महाविद्यालय के सीओओ डाॅ. दीपक शर्मा ने विभाग की सराहना करते हुये कहा आईयूसीएन, रेड डाटा बुक  के अनुसार विश्व की लगभग 40 प्रतिशत प्रजातियाॅं विलुप्त होने के कगार पर है इनके संरक्षण के लिये ठोस कानूनी कदम उठाने की आवश्यकता है साथ ही प्रत्येक व्यक्ति को जागरुक होने की भी आवश्यक है।

परिचर्चा में विद्यार्थियों ने विश्व के भारत के तथा छ.ग. राज्य के कुछ इनडेन्जर्ड स्पीशिस के बारे में बताया। पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन तथा अधिक शिकार करने के कारण विश्व की कई प्रजातियाॅं विलुप्त हो रही है। अतः हमें इन्डेन्जर्ड स्पीशिस में और अधिक शिक्षित होने की आवश्यकता है।

डिजिटल फ्लेरल गैलेरी में विद्यार्थियों ने अपने गार्डन में खिले फूलों के फोटो खिंचकर भेजे जिसे रेड गैलरी, यलो गैलरी, व्हाईट गैलरी, पिंक, आॅरेंज, परपल गैलरी बनाई गयी जिससे विद्यार्थी प्रकृति की विविधता एवं सुन्दरता को समझ सके।

विद्यार्थियों की प्रकृति के संवर्धन व संरक्षण के प्रति जागरुकता हमें आश्वश्त करती है प्रकृति सुरक्षित हाथों में है।