बिना अनुमति हो रहे आयोजनों पर करें सख्त कार्रवाई, कलेक्टर ने दिए निर्देश

 

-सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं पहनने वालों पर लगाएं जुर्माना

- कोविड संक्रमण की स्थिति को देखते हुए पुख्ता करें मॉनिटरिंग -पुलिस एवं निगम के दस्ते निरंतर करेंगे मॉनिटरिंग

दुर्ग । असल बात न्यूज़।

जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज एक अहम बैठक कलेक्ट्रेट में ली। बैठक में उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों एवं निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोरोना गाइडलाइन का पालन सख्ती से कराएं। बिना अनुमति हो रहे आयोजनों पर सख्त कार्रवाई करें। इस संबंध में कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। सार्वजनिक स्थानों पर कड़ी मॉनिटरिंग करें। बिना मास्क पहने निकलने वालों पर कड़ी कार्रवाई करें।  बैठक में एसपी श्री प्रशांत ठाकुर भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि पुलिस और निगम के दस्ते लगातार इस बात इस बात की मॉनिटरिंग करें कि लोग कोरोना गाइडलाइन का पालन करें। शहर के प्रमुख ट्रैफिक चौराहों में स्टेटिक टीम नियुक्त रहेगी जो यह देखेगी कि लोग मास्क लगा रहे हैं अथवा नहीं। एक मोबाइल यूनिट भी पुलिस एवं निगम की लगातार सार्वजनिक स्थानों पर मॉनिटरिंग करेगी। इसके अलावा पुलिस एवं निगम का दल इस बात पर भी नजर रखेगा कि कोई आयोजन बगैर शासकीय अनुमति के तो नहीं हो रहा।  बैठक में नगर निगम भिलाई आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी, अपर कलेक्टर श्री प्रकाश सर्वे, श्री बीबी पंचभाई, एएसपी श्री रोहित झा, श्रीमती प्रज्ञा मेश्राम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

*पूर्व में जारी सभी अनुमति निरस्त, पुनः लेनी होगी अनुमति*- कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बैठक में निर्देशित किया कि कोरोना की बढ़ती हुई स्थिति को देखते हुए पूर्व में जारी की गई सभी अनुमति  निरस्त की जाए। यदि कोई नागरिक कार्यक्रम आयोजित करना चाहता है तो उसे पुनः अनुमति के लिए आवेदन देना पड़ेगा तथा आयोजन की अपरिहार्य स्थितियों के मुताबिक समीक्षा करते हुए इस संबंध में इजाजत दी जाएगी। डीजे का प्रयोग पूर्ण प्रतिबंधित होगा। 

*कंटेंटमेंट जोन बनेंगे*-कलेक्टर ने बैठक में कहा कि हॉटस्पॉट के अधिक केस वाले क्लस्टर में कंटेंटमेंट जोन बनाए जाएंगे। उन्होंने निगमायुक्त को निर्देशित किया कि जहां पर हॉटस्पॉट है वहां पर यह देखें कि किस इलाके में अधिकतर मरीज आ रहे हैं जिन इलाकों से अधिकतर मरीज आ रहे हैं वहां पर कंटेंटमेंट बनाए जाएंगे। इसके साथ ही हॉटस्पॉट में आने वाले सभी स्ट्रीट वेंडर की टेस्टिंग की जाएगी। इसके साथ ही अन्य विक्रेताओं की टेस्टिंग भी की जाएगी। 

*कांटेक्ट ट्रेसिंग अहम* -कलेक्टर ने कहा कि  कांटेक्ट ट्रेसिंग सर्वाधिक अहम है एक पॉजिटिव के पीछे कम से कम 20 व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग करें ताकि कोरोना संक्रमण को थामने में अधिकाधिक मदद मिले। इसके साथ ही अधिकाधिक वैक्सिनेशन के निर्देश भी दिए।

*बगैर दर्शक होंगी खेल प्रतियोगिता*-कलेक्टर ने कहा कि जिले में जो खेल प्रतियोगिताएं हो रही है वहां पर आने वाले सभी खिलाड़ियों को कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट जमा करनी होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी खेल में दर्शकों की इजाजत नहीं होगी। 

*जिला अस्पताल में 70 बेड की सुविधा होगी*- कलेक्टर ने अस्पताल की तैयारियों के भी निर्देश दिए। उन्होंने जिला चिकित्सालय में 70 बेड की तैयारी रखने के निर्देश दिए। साथ ही शंकराचार्य हॉस्पिटल में भी आवश्यक तैयारियों के निर्देश दिए। कलेक्टर ने पृथक से आइसोलेशन सेंटर तैयार करने के के निर्देश भी दिए। इसके साथ ही उन्होंने आइसोलेशन सेंटर में एवं अस्पतालों में साफ-सफाई खाने पीने की एवं इलाज की उचित व्यवस्था की लगातार मॉनिटरिंग के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी इसकी लगातार मॉनिटरिंग करें। 

*निजी अस्पताल की मॉनिटरिंग के लिए नोडल अधिकारी*-कलेक्टर ने कहा कि प्राइवेट हॉस्पिटल में भी कोरोना इलाज की अनुमति दी गई है पूर्व में जिस तरह से नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए थे, अब भी वे यह कार्य करते रहेंगे।

*बोर्ड एग्जाम और प्रैक्टिकल यथावत*- बोर्ड  में होने वाले प्रैक्टिकल और एग्जामिनेशन यथावत होंगे। साप्ताहिक सब्जी बाजार को शिफ्ट करने के संबंध में  निर्णय लेने कलेक्टर ने निगम आयुक्त को निर्देश दिया कि जिन साप्ताहिक बाजारों में अधिक भीड़ होती है उन्हें खुले स्थानों पर शिफ्ट करें। इस संबंध में आवश्यकता अनुसार निर्णय लेवे। साथ ही उन्होंने कहा कि इन बाजारों में जो बाहर से व्यापारी आते हैं उनकी अनिवार्य रूप से टेस्टिंग की व्यवस्था करें। इस संबंध में व्यापारिक संघ के अध्यक्षों से समन्वय स्थापित करें।