Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

राजस्व संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु योजना बनाकर किया जाएगा कार्य। टीम गठित कर तहसीलों में किया जाएगा निरीक्षण। राजस्व मामले में लापरवाही बरतने पर होगी कार्यवाही- कलेक्टर सुश्री चौधरी कलेक्टर ने की राजस्व प्रकरणों की समीक्षा

असल बात न्यूज  राजस्व संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु योजना बनाकर किया जाएगा कार्य टीम गठित कर तहसीलों में किया जाएगा निरीक्षण राजस्व...

Also Read

असल बात न्यूज 

राजस्व संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु योजना बनाकर किया जाएगा कार्य

टीम गठित कर तहसीलों में किया जाएगा निरीक्षण

राजस्व मामले में लापरवाही बरतने पर होगी कार्यवाही - कलेक्टर सुश्री चौधरी

कलेक्टर ने की राजस्व प्रकरणों की समीक्षा


दुर्ग, कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागृह में जिले के सभी राजस्व अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि राजस्व संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु गंभीरता से कार्य किया जाए। जिले के सभी ग्रामों में कार्य योजना बनाकर शिविरों के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने राजस्व प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को प्रकरणों के निराकरण संबंधी आवश्यक निर्देश दिए। राजस्व प्रकरणों के निराकरण की दैनिक प्रगति रिपोर्ट (गूगलशीट) में क्रमबद्ध उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। 

कलेक्टर सुश्री चौधरी ने अविवादित नामांतरण, राजस्व संबंधी त्रुटि सुधार, बटवारा एवं विवादित नामांतरण बटवारा के लंबित प्रकरणों के संबंध में तहसीलदार एवं अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) को निर्देशित किया कि उक्त मामलों के समय-सीमा के बाहर एवं समय-सीमा के अंदर लंबित सभी प्रकरणों का शत्-प्रतिशत निराकरण विशेष अभियान चलाकर शीघ्र पूर्ण करें। न्यायालयवार प्रकरणों का भी समय-सीमा के भीतर निराकरण सुनिश्चित करने कहा।

बैठक में सीमांकन, व्यपवर्तन, विवादित बटवारा, ई-कोर्ट पोर्टल में दर्ज प्रकरणों की स्थिति संबधी न्यायालयीन प्रकरणों के साथ-साथ ऑनलाईन नामांतरण पंजी, आधार प्रविष्टि, अभिलेख शुद्धता, नक्शा बटांकन, आर.बी.सी.-6-4, भू-बंटन, भू-अर्जन, वसूली, अतिक्रमण एवं महत्वपूर्ण कार्यों की समीक्षा की गई।

कलेक्टर सुश्री चौधरी ने एडीएम को निर्देशित किया कि वे दल गठित कर तहसीलों में 3 एवं 5 वर्ष से अधिक के लंबित एवं अन्य प्रकरणों का निरीक्षण करें और ऐसे मामले जिनके निराकरण में आवेदक इच्छुक नही हैं, उन्हें नस्तीबद्ध करने को कहा। उन्होंने नामांतरण प्रकरणों के निराकरण के लिए आवेदक की उपस्थिति सुनिश्चित कराने को कहा। लोक सेवा केन्द्र से प्राप्त आवेदनों का निराकरण जल्द करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए, ताकि स्कूली बच्चों एवं कॉलेज की विद्यार्थियों को भर्ती के समय प्रमाण पत्र से संबंधित समस्या न आए। कलेक्टर ने वसूली के मामले में पाटन एसडीएम द्वारा किए गए कार्य की सराहना करते हुए सभी संबंधित अधिकारियों को भी योजना बनाकर कार्य करने हेतु निर्देशित किया।  

बैठक में ए.डी.एम. श्री अरविंद एक्का, आयुक्त नगर निगर भिलाई-चरोदा श्री एम.भार्गव, संयुक्त कलेक्टर श्री हरवंश मिरी एवं श्री विरेन्द्र सिंह, एसडीएम पाटन श्री दीपक निकंुज, एसडीएम भिलाई श्री लवकेश ध्रुव, एसडीएम दुर्ग श्री मुकेश रावटे, एसडीएम धमधा श्री सोनल डेविड, एसडीएम भिलाई-3 श्री महेश राजपूत सहित सभी तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।