Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

विधायकों और जिला पदाधिकारियों की उपस्थिति में मनाई गई डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के कारण ही आज जम्मू-कश्मीर में भारतीय संविधान पूरी तरह से लागू हो पाया है - भाजपा

दुर्ग भारतीय जनता पार्टी के प्रेरणापुरुष, राष्ट्रवाद के पथप्रदर्शक व महान शिक्षाविद डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के अवसर पर जिला भाजपा...

Also Read

दुर्ग




भारतीय जनता पार्टी के प्रेरणापुरुष, राष्ट्रवाद के पथप्रदर्शक व महान शिक्षाविद डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के अवसर पर जिला भाजपा कार्यालय दुर्ग में उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर व्याख्यान आयोजित किया गया। व्याख्यान में उनके जीवन चरित्र पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला गया।

इस अवसर पर दुर्ग ग्रामीण विधायक ललित चंद्राकर ने डा. मुखर्जी के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेगा’ ये नारा देने वाले, राष्ट्रीय एकता व अखंडता के लिए अपना जीवन अर्पित करने वाले जनसंघ के संस्थापक, महान शिक्षाविद् व प्रखर राष्ट्रवादी नायक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के कारण ही आज जम्मू-कश्मीर में भारतीय संविधान पूरी तरह से लागू हो पाया है। उन्होंने ही देश विभाजन के समय प्रस्तावित पाकिस्तान में से बंगाल और पंजाब के विभाजन की मांग में हस्तक्षेप करते हुए सारे तथ्यों के साथ आपत्ति जताई, इसी के चलते वर्तमान बंगाल और पंजाब भारत का अंग बन पाए हैं।


 दुर्ग शहर विधायक गजेन्द्र यादव ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी द्वारा स्थापित आदर्शों और सिद्धांतों पर भारतीय जनता पार्टी कार्य कर रही है। भाजपा डा. मुखर्जी की बनाई नीतियों व विचारो से चलती है और इसी को  सभी कार्यकर्त्ता आत्मसात करते है। उनका त्याग, बलिदान व अखंड भारत हेतु समर्पित जीवन हमें सदैव प्रेरणा देता रहेगा। डॉ. मुखर्जी राष्ट्रभक्ति एवं देश प्रेम की उस महान परंपरा के वाहक थे, जो देश की गुलामी के युग तथा स्वतंत्रता के काल में देश की एकता, अखंडता तथा विघटनकारी शक्तियों के विरुद्ध सतत् जूझते रहे। उनका जीवन भारतीय धर्म तथा संस्कृति के लिए पूर्णतः समर्पित था।

इस अवसर जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार पाध्ये ने डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन चरित्र और योगदान के बारे में बताते हुए कहा कि मात्र 33 वर्ष की उम्र में कलकत्ता विश्वविद्यालय के सबसे कम उम्र के कुलपति बनने के बाद राष्ट्र सेवा के उद्देश्य से उन्होंने राजनीति में कदम रखा। स्वतंत्रता के बाद अन्तरिम सरकार में देश के पहले उद्योग मंत्री रहे परंतु जवाहरलाल नेहरू की तुष्टिकरण की नीति को अस्वीकार करते हुए उन्होंने निजी हित से ऊपर राष्ट्रहित को माना और केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा देकर जनसंघ की स्थापना की। जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को लेकर उन्होंने परमिट कानून तोड़ने का निर्णय लिया, जम्मू कश्मीर में उनकी गिरफ्तारी करके राजनीतिक षड्यंत्र के तहत हत्या की गई। भाजपा ने डॉ. मुखर्जी की सोच को साकार करते हुए जम्मू कश्मीर की विशेष स्थिति को समाप्त करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में आर्टिकल 370 को हटाया गया, ये देश के बहुत बड़ी उपलब्धि है।

कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री सुरेन्द्र कौशिक ने किया और आभार प्रदर्शन जिला महिला उपाध्यक्ष श्रीमती अल्का बाघमार ने किया। कार्यक्रम में दुर्ग ग्रामीण विधायक ललित चंद्राकर, दुर्ग शहर विधायक गजेन्द्र यादव, जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार पाध्ये, महामंत्री सुरेंद्र कौशिक, अजय तिवारी, अल्का बाघमार, आशीष निमजे, दिनेश देवांगन, अनूप सोनी,देवनारायण चंद्राकर, मदन वाढई, विजय ताम्रकार, सुनील अग्रवाल, डॉ. सुनील साहू, रजनीश श्रीवास्तव, महामंत्री गायत्री वर्मा, जयश्री राजपूत, मंजू पाण्डेय, विष्णु साहू, द्वारिका साहू, शिवेंद्र परिहार, विकास सेन, राजेश साहू, संजय शुक्ला, मलखान सिंह लोधी, हरीश चौहान, दिनेश मिश्रा, आशुतोष यादव, भास्कर तिवारी, काशीराम कोसरे, अनिकेत यादव आदि समस्त पदाधिकारी व कार्यकर्तागण उपस्थित रहे