Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

देश के कुछ हिस्सों में अभी और जारी रहेगी भीषण गर्मी,प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्थितियों की समीक्षाकी

  अस्पतालों और अन्य सार्वजनिक स्थानों की अग्नि सुरक्षा और विद्युत सुरक्षा की नियमित रूप से जाँच करने के निर्देश  नई दिल्ली.  असल बात न्यूज़. ...

Also Read

 




अस्पतालों और अन्य सार्वजनिक स्थानों की अग्नि सुरक्षा और विद्युत सुरक्षा की नियमित रूप से जाँच करने के निर्देश 

नई दिल्ली. 
असल बात न्यूज़.


राजस्थानगुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में अभी आगे भी कुछ दिनों तक भीषण गर्मी जारी रहने की संभावना है। मैं इस साल मानसून,देश के अधिकांश हिस्सों में सामान्य रहेगा.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने आवास 7लोक कल्याण मार्ग पर देश में जारी भीषण गर्मी और मानसून की संभावना और उसकी  तैयारियों की समीक्षा की. प्रधानमंत्री ने आधुनिक की घटनाओं को रोकने समुचित प्रबंध करने का निर्देश दिया है. वह लिखनी है कि देश में पिछले दिनों के दौरान आगजनी की गंभीर घटनाएं हुई हैं जिसमें जान माल की बड़ी क्षति हुई है. छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले के बेरला में बारूद फैक्ट्री में भीषण विस्फोट  की गूंज पूरे देश में सुनाई दे रही है.

प्रधानमंत्री को जानकारी दी गयी कि आईएमडी के पूर्वानुमानों के अनुसारराजस्थानगुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भीषण गर्मी जारी रहने की संभावना है। इस वर्षदेश के अधिकांश हिस्सों में मानसून सामान्य और सामान्य से अधिक तथा प्रायद्वीपीय भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम रहने की संभावना है।

प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया है कि आग की घटनाओं को रोकने और उनसे निपटने के लिए नियमित आधार पर उचित अभ्यास किया जाना चाहिए। अस्पतालों और अन्य सार्वजनिक स्थानों की अग्नि सुरक्षा और विद्युत सुरक्षा की समीक्षा नियमित रूप से की जानी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जंगलों में अग्नि-रेखा के रखरखाव और बायोमास के फलदायी उपयोग के लिए नियमित अभ्यास की योजना बनाई जानी चाहिए।

प्रधानमंत्री को जंगल की आग की समय पर पहचान और उसके प्रबंधन में "वन अग्नि" पोर्टल की उपयोगिता के बारे में बताया गया।

बैठक में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिवकैबिनेट सचिवगृह सचिवपृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिवएनडीआरएफ के महानिदेशक और एनडीएमए के सदस्य सचिव के साथ-साथ पीएमओ और संबंधित मंत्रालयों के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।