Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वाति मालीवाल ने उनके समर्थन में वीडियो बनाने के लिए निर्भया की मां का धन्यवाद किया,निर्भया की मां ने CM केजरीवाल को दी सलाह

  नई दिल्ली . स्वाति मालीवाल ने उनके समर्थन में वीडियो बनाने के लिए निर्भया की मां का धन्यवाद किया. कहा कि निर्भया की माता जी ने देश में ...

Also Read

 नई दिल्ली . स्वाति मालीवाल ने उनके समर्थन में वीडियो बनाने के लिए निर्भया की मां का धन्यवाद किया. कहा कि निर्भया की माता जी ने देश में इंसाफ की लंबी लड़ाई लड़ी है. उन्होंने मेरे समर्थन में वीडियो बनाई तो दिल भावुक हो गया.

निर्भया की माता को याद करते हुए स्वाति ने कहा कि जब मैं बच्चियों के रेपिस्ट को सजा दिलाने के लिए अनशन कर रही थी, तब भी उन्होंने मेरा साथ दिया था. आज उन्होंने मेरे समर्थन में ये वीडियो बनाई तो दिल बड़ा भावुक हुआ. साथ ही उन्होंने कहा कि इसमें कोई बड़ी बात नहीं कि अभी कुछ नेता मेरा समर्थन करने के लिए इन्हें भी बीजेपी का एजेंट बता देंगे.

निर्भया की मां आशा देवी ने एक वीडियो में कहा कि स्वाति मालीवाल के साथ बहुत गलत हुआ है. वह स्वाति मालीवाल को बहुत अच्छे से जानती हैं. उनसे कई बार मुलाकात हुई है और साथ में बहुत काम भी किया है. उन्होंने हमारी बेटी के मामले में भी बहुत मदद की. मैंने कई महिलाओं के केस के बारे में उनसे बात की थी. उन्होंने जितना हो सके मदद की है. आशा देवी ने कहा कि अगर इतनी पावरफुल महिला सुरक्षित नहीं हैं तो आम महिलाएं कैसे सुरक्षित रह सकती हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आज की तारीख में किसी बच्ची के साथ कुछ होता है तो दस जगह धक्के खाओ, इंसाफ तो बहुत दूर की बात है. वादा करना अलग चीज है उस पर काम करना अलग चीज है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए.

इससे पहले उनके साथ घटी घटना को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए स्वाति ने कहा था कि मैंने जब केस दर्ज कराई तो मेरे खिलाफ नेताओं और वालंटियर की पूरी फौज लगा दी गई. मुझे बीजेपी का एजेंट बुलाया गया. मेरा चरित्र हरण कराया गया. काट पीट के वीडियो लीक की गई. सबूत से छेड़छाड़ करी गई. आरोपी के लिए खुद सड़क पर उतर गए और अब मुख्यमंत्री साहब जिनके ड्राइंग रूम में मुझे पीटा गया, वो कह रहे हैं कि उन्हें इस मामले में निष्पक्ष जांच चाहिए. इससे बड़ी विडंबना क्या होगी. मैं इसे नहीं मानती. कथनी और करनी एक समान होनी चाहिए.