Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कांग्रेस ही भ्रष्टाचार की जननी है तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी - विष्णु देव साय

  रायपुर. अगर मैं कहूं कि कांग्रेस ही भ्रष्टाचार की जननी है तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी. आजादी के बाद जितने कांग्रेसी प्रधानमंत्री हु...

Also Read

 रायपुर. अगर मैं कहूं कि कांग्रेस ही भ्रष्टाचार की जननी है तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी. आजादी के बाद जितने कांग्रेसी प्रधानमंत्री हुए, उनमें स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरू से लेकर मनमोहन सिंह तक अधिकांश पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे. स्व. राजीव गांधी के कार्यकाल में बोफोर्स घोटाले के कारण उनकी सरकार चली गई. यहां तक कि खुद राजीव गांधी स्वीकार करते थे कि मैं दिल्ली से 1 रुपए भेजता हूं तो लोगों तक केवल 15 पैसा ही पहुंच पाता है. मनमोहन सिंह सरकार में भी अनेक घोटाले हुए, उस समय जब भी कोई समाचार पत्र या टीवी में न्यूज चैनल देखते तो हर दिन कोई नया स्कैंडल सामने आता था. कोलगेट घोटाला, कॉमनवेल्थ गेम घोटाला, अगस्ता हेलीकॉप्टर खरीदी घोटाला जैसे आरोप मनमोहन सरकार पर लगे. इन्होंने जमीन छोड़ा ना आसमान, हर जगह घोटाला और भ्रष्टाचार किया. ये बातें सीएम विष्णुदेव साय ने कही.



एक साक्षात्कार में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ में जब 2018 में विधानसभा चुनाव हुए तो जनता ने कांग्रेस पार्टी पर बहुत बड़ा विश्वास करके उन्हें सरकार में बैठाया था, लेकिन यहां भी पांच साल कांग्रेस सरकार ने सिर्फ घोटाले किए. पूर्व मुख्यमंत्री पर भी महादेव सट्टा ऐप में प्रोटेक्शन मनी लेने का आरोप लगा. भारतीय जनता पार्टी में भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं है. नरेंद्र मोदी ने जब पहली बार प्रधानमंत्री के रूप में अपना दायित्व संभाला तो उन्होंने कहा था कि “ना खाऊंगा ना खाने दूंगा” और सौभाग्य है इस देश का कि दो कार्यकालों के बाद भी मोदी सरकार व उनके किसी मंत्री पर भ्रष्टाचार या घोटालों के आरोप नहीं लगे. इसी प्रकार छत्तीसगढ़ में भी हम भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रहे हैं और जो भी इसमें लिप्त पाया जाएगा उस पर हमारी सरकार सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा “वोट जिहाद” शब्द बोलने के सवाल पर सीएम साय ने कहा कि कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति करती है इनके पूर्व प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह बोल चुके हैं कि देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है, लेकिन ये सब यहां नहीं चलने वाला. एसी, एसटी, ओबीसी व सामान्य, सभी वर्ग के लोग इस देश में रहते हैं जो इस देश की चिंता करते हैं इसलिए सबका हक बराबर है. एक विशेष समुदाय के वोट बैंक के लिए तुष्टिकरण की राजनीति कांग्रेस पार्टी करती आई है.

पिछली कांग्रेस द्वारा मोदी सरकार पर भेदभाव के आरोप पर साय ने कहा कि केन्द्र की मोदी की सरकार कभी किसी से भेदभाव नहीं करती है. पिछली कांग्रेस सरकार के साथ भी कोई भेदभाव नहीं किया गया था, लेकिन यहां की पूर्व कांग्रेस सरकार एवं स्वयं भूपेश बघेल नहीं चाहते थे कि केंद्र की योजनाओं का लाभ छत्तीसगढ़ की जनता को मिले क्योंकि इसका श्रेय भाजपा और मोदी जी को चला जाएगा. उन्होंने कहा कि पिछले 5 वर्षों में 18 लाख गरीब परिवार प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित हो गए. भारत सरकार द्वारा इसका पैसा भी भेजा गया, गरीबों के पक्का मकान बनवाने हेतु लगातार छत्तीसगढ़ सरकार को पत्र लिखा गया लेकिन यहां की कांग्रेस सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया. हर घर जल पहुंचाने के लिए संकल्पित भारत सरकार द्वारा शुरू की गई “जल जीवन मिशन” योजना भी कांग्रेस सरकार में कमीशनखोरी की भेंट चढ़ गई. जबसे छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार बनी हैं, केंद्र सरकार की सभी योजनाएं एवं मोदी की गारंटी का लाभ हर व्यक्ति तक पहुंचाने का काम हमारी सरकार कर रही है.

चुनाव के बाद विष्णु सरकार की जनहितैषी योजनाओं के बंद हो जाने के सवाल पर विष्णु देव साय ने कहा कि कांग्रेस मुद्दाविहीन हो गई है. उन्हें अपनी हार स्पष्ट दिखाई दे रही है इसलिए वे मुद्दे की बात नहीं कर रहे है, केवल भ्रम और झूठ फैला रहे हैं. संविधान खतरे में पड़ जाएगा, आरक्षण समाप्त कर देंगे, महतारी वंदन का पैसा व 3100 रूपया धान खरीदी चुनाव तक है, कांग्रेसी ये भ्रम लोगों के बीच पैदा कर रहे हैं, लेकिन जनता वास्तविकता को जानती है वह इनके झांसे में नहीं आने वाली. उन्होंने कहा कि मैं बतौर मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि जब तक हमारी सरकार है, हमारी कोई भी योजना या मोदी की गारंटी बंद नहीं होगी. प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि न संविधान को कोई खतरा है, न किसी का आरक्षण समाप्त होगा. अनुसूचित क्षेत्रों में धर्मांतरण को रोकने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि धर्मांतरण का विरोध हमने लगातार किया है और जब हम सरकार में हैं तो आने वाले समय में यदि जरूरत पड़ी तो इसके खिलाफ हम कठोर कानून लेकर आएंगे.