Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

सुदूर वनांचल सहित मैदानी क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्था दुरूस्त करें-कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, कलेक्टर ने ली समय-सीमा की बैठक, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

 कवर्धा कवर्धा, कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक में चिन्हांकित पेयजल समस्या वाले गांवों में पेयजल आप...

Also Read

 कवर्धा



कवर्धा, कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक में चिन्हांकित पेयजल समस्या वाले गांवों में पेयजल आपूर्ति के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने विभिन्न विभागों के समय सीमा में लंबित प्रकरणों का समीक्षा कर निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि गर्मी में सबसे बड़ी चुनौती वनांचल सही मैदानी क्षेत्रों में पेयजल की आपूर्ति करना है। जहां जल स्तर कम हुआ है, वहां विभिन्न स्रोत के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री संदीप कुमार अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री अविनाश भोई, संयुक्त कलेक्टर श्री आलोक श्रीवास्तव, डॉ. मोनिका कौड़ो, पंडरिया एसडीएम श्री संदीप ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर श्री आरबी देवांगन, श्रीमती लेखा अजगल्ले, सुश्री हर्षलता वर्मा, सुश्री आकांक्षा नायक सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।

        कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि बोड़ला विकासखंड के सुदूर वानांचल क्षेत्र कांदावानी, कुकरापानी, पौनी, बांटीपथरा सहित सुदूर वनांचल क्षेत्रों में पेयजल समस्या दूर करने लोक स्वास्थय यांत्रिकी एवं क्रेडा विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने वनांचल क्षेत्रों में पेयजल समस्या दूर करने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में बहने वाली नदी-नालों में नाला बंधान के लिए वन विभाग, जिला पंचायत को कार्ययोजना के बनाने के आवयक निर्देश दिए। उन्होंने पीएचई विभाग के अधिकारी को पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। वही शहरी क्षेत्रों में जिस वार्ड में पानी की समस्या की शिकायत मिलती है, वहां टैंकर उपलब्ध कराने कहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी गांव में पेयजल की समस्या नही होनी चाहिए। सभी को पेयजल उपलब्ध कराना हमारी जिम्मेदारी है। क्रेडा के अतंर्गत सौर ऊर्जा से संचालित होने वाले बोर जहां सप्लाई की दिक्कत या खराब हो गई है उसे ठीक करने के निर्देश क्रेडा विभाग के अधिकारी को दिए। उन्होंने पानी रोको अभियान के तहत नाला बंधान के कार्य को करने के लिए कहा। उन्होंने उचित मूल्य की दुकानों में बचत स्टॉक का भौतिक सत्यापन करते हुए करते हुए गड़बड़ी करने वालों पर एफआईआर कर कड़ी करवाई करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने फसल नुकसान होने वाले किसानों के आरबीसी 6-4 के तहत तथा फसल बीमा के अंतर्गत मिलने वाली राशि के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने बैठक में श्रम अधिकारी और बोड़ला सीएमओ के उपस्थित नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त की।

कलेक्टर ने वनों की अवैध कटाई की शिकायतों एवं मीडिया के माध्यम से मिल रही जानकारी को संज्ञान में लिया। उन्होंने वनों की अवैध कटाई के रोकथाम के लिए एसडीएम और वन विभाग के संबंधित एसडीओं को कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले का अधिकांश क्षेत्र में वन फैला हुआ है, कई स्थानों पर वन कटाई की शिकायत प्राप्त होती है। इस संबंध में किसी भी प्रकार की शिकायत मिलने पर तत्काल टीम भेजकर करवाई करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बढ़ती हुई गर्मी को ध्यान में रखते हुए लू और मौसमी बिमारी से बचाव के लिए जिले में संचालित सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

       कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि गर्मी के दिनों में ओवर लोड होने के कारण विद्युत की समस्या आती है, इसे ध्यान में रखते हुए विद्युत विभाग तत्परता से कार्य करते हुए विद्युत आपूर्ति को लगातार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एक महीने बाद नया स्कूल सत्र प्रारंभ होगा। इसके पहले जिले में संचालित स्कूल भवनों को सही करें। जिन भवनों में मरम्मत की जरूरत है वहा स्कूल प्रारंभ होने के पहले ही ठीक करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि धान की खेती में अधिक पानी की आवश्यकता होती है। गर्मी के मौसम में कम पानी की आवश्यकता वाले फसल लेने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें। जिससे भूजल स्तर अच्छा रहेगा।