Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

लोकसभा चुनाव में शतप्रतिशत मतदान को लेकर जागरूकता अभियान के तहत बलौदाबाजार के गार्डन चौक में किया गया स्वीप संध्या का आयोजन

  बलौदाबाजार। लोकसभा चुनाव में शतप्रतिशत मतदान को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है इसी के तहत बलौदाबाजार के गार्डन चौक में स्वीप...

Also Read

 बलौदाबाजार। लोकसभा चुनाव में शतप्रतिशत मतदान को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है इसी के तहत बलौदाबाजार के गार्डन चौक में स्वीप संध्या का आयोजन किया गया, जिसमें स्कुली छात्र छात्राओं ने नृत्य संगीत के माध्यम से लोगों से मतदान के महत्व को समझाते हुए मतदान की अपील की, वहीं पालकों के लिए आनंद मेला का भी आयोजन किया गया.

 

बलौदाबाजार के कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी केएल चौहान ने कार्यक्रम में शिरकत कर उपस्थित नागरिकों को मतदान की शपथ छत्तीसगढ़ी बोली में दिलाई. इसके अलावा उन्होंने बच्चों के बीच जाकर आनंद मेला का भी लुत्फ़ उठाया. इस दौरान कलेक्टर चौहान ने बच्चों के द्वारा बनाये गये गुपचुप, भेल, टिकिया का पूरे परिवार के साथ लुफ्त उठाया.

इस मौके पर कलेक्टर केएल चौहान ने कहा कि जिले में शतप्रतिशत मतदान को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है हमें उम्मीद है लोग आगे आकर बढ़चढ़ कर मतदान करेंगे. उसी के तहत आज स्वीप संगीत संध्या का आयोजन किया गया था जिसमें सभी ने बहुत अच्छे से भागीदारी की है. सभी से अपील भी है कि आने वाले लोकसभा चुनाव 7 मई को अधिक से अधिक मतदान करें लोकतंत्र के त्योहार मे हिस्सा लेवें.

बता दें कि कार्यक्रम में सहायक कलेक्टर नम्रता चौबे आईएएस, जिला पंचायत सीईओ दिव्या अग्रवाल, एसडीएम अमित गुप्ता, तहसीलदार राजृ पटेल, जनपद सीईओ मन हरण मंडावी, जिला शिक्षा अधिकारी हिमांशु भारतीय, सहित शिक्षा व अन्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे.

गौरतलब है कि जिले में शतप्रतिशत मतदान को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें बलौदाबाजार का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हो चुका है। जागरूकता अभियान में बच्चे भी बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं जिसमें आज के कार्यक्रम में गुरुकुल इंग्लिश मीडियम स्कूल, स्वामी आत्मानंद स्कूल, अंबुजा विछापीठ, नवीन शाला, संस्कार स्कूल, वर्धमान विघापीठ, उपस्थित थे. वहीं सुर ओ चंदन संगीत समिति द्वारा संगीत की प्रस्तुति दी.