Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण अंतर्गत प्रर्वतन एजेंसियों की बैठक सम्पन्न -आर्थिक अपराधों पर नियंत्रण एवं निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण पर दिया गया जोर -सभी तरह के वाहनों की सघन जांच के दिए गए निर्देश

दुर्ग      दुर्ग/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ऋचा प्रकाश चौधरी ने जिले में शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने चुनाव प्रचार क...

Also Read

दुर्ग


     दुर्ग/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ऋचा प्रकाश चौधरी ने जिले में शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने चुनाव प्रचार के दौरान किसी भी प्रकार की प्रलोभन या अनुचित प्रभाव डालने वाले तत्वों को रोकने के लिए सभी बॉर्डर चेक पोस्टों, रेल्वे स्टेशनों, बस स्टैंडों एवं स्टापजों, बैंकों में अनियमित लेनदेनों और गैर कानूनी गतिविधियों पर खास नजर रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से लोकसभा चुनाव के लिए सभी अधिकारियो को सावधानी बरतने और सतर्कता के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करने को कहा है।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में लोकसभा निर्वाचन-2024 निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण अंतर्गत प्रर्वतन एजेंसियों की बैठक आयोजित की गई।   

      कलेक्टर सुश्री चौधरी ने शराब की अवैध बिक्री एवं वितरण को रोकने हेतु जिले के सभी उत्पादन की इकाईयों एवं गोदामों आदि पर निगरानी रखने, अवैध शराब जप्त करने के लिए छापेमारी करने, सभी चेक पोस्टों और बॉर्डर चेकपोस्टों पर शिफ्टवाइज ड्यूटी लगाकर वाहनों पर सतत रूप से गहन निगरानी रखने, शराब दुकान खुलने एवं बंद होने के समय की निगरानी रखने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देश दिए। 

     कलेक्टर ने अवैध धन की आवा-जाही पर सतत मॉनिटरिंग कर आयकर कानूनों के तहत आवश्यक कार्यवाही करने आयकर अधिकारी को निर्देश दिए है। उन्होंने बैंकों में अनियमित वित्तीय लेनदेन, दस लाख रूपए से अधिक के ट्रांजेक्शन, नए खातों की मॉनिटरिंग, उद्योगों-फमों के स्टॉक वेरिफिकेशन करने के साथ ही होटलों, फार्म हाउस, वित्तीय दलालों, कैश कुरियर, आयकर रिटर्न दाखिल करवाने और सत्यापित करने कहा। 

उन्होंने कहा कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराए जाने उड़नदस्ते (एफएसटी) और स्थैतिक जांच दल (एसएसटी) गठित कर दलों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र स्तर पर उड़न दस्ते तैनात रहेंगे, इसमें वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, एक वीडियोग्रॉफर और पुलिसकर्मी रहेंगे। यह दल अवैध रूप से नगदी, शराब अथवा अन्य कोई सामान जो कि मतदाताओं को प्रलोभन के लिए दिया जा सकता है, उसे स्व प्रेरणा से रोकने की कार्रवाई करेंगे और प्रतिदिन की गई कार्रवाई की जानकारी एसपी और जिला निर्वाचन अधिकारी को देनी होगी। 

      एसपी श्री जितेन्द्र शुक्ला ने कहा कि चुनाव के दौरान मतदाताओं को प्रलोभन देने अवैध रूप से नगद राशि, कपड़े, बर्तन, जेवर, शराब आदि के वितरण पर निगरानी रखने और जिले एवं राज्य की सीमा क्षेत्रो में बनाए गए चेक पोस्ट, बैरियर, नाका में वाहनों की सघन चेकिंग करने को कहा। उन्होंने टीम बनाकर कार्य करने को कहा। उन्हांेने इस तरह की अवैध परिवहन की जानकारी होने पर संबंधित विभाग एवं पुलिस को तत्काल सूचना देने को कहा। उन्होंने विभागो को आपसी समन्वय से नियम और प्रावधानों के दायरे में निष्पक्षता के साथ कार्य संपादित करने को कहा।

       बैठक में अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का एवं श्रीमती योगिता देवांगन, वनमण्डलाधिकारी, भिलाई नगर निगम आयुक्त श्री देवेश धु्रव, डिप्टी कलेक्टर श्री महेश राजपूत, एसडीएम श्री मुकेश रावटे, सहायक आयुक्त सेन्ट्रल जीएसटी, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, संयुक्त आयुक्त राज्य कर श्रीमती भावना अली, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्री एस.एल.लकड़ा, प्रधान डाकपाल मुख्य डाकघर, नोडल अधिकारी श्री महेश सिंह राजपूत, सहायक नोडल अधिकारी डॉ. दिवाकर सिंह राठौर, आयकर अधिकारी श्रीमती रंजनी श्रीकुमार, एईओ, लीड बैंक अधिकारी श्री दिलीप नायक, आबकारी, आयकर एवं जीएसटी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।