Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भाजपा महिला मोर्चा ने महिलाओं के यौन उत्पीड़न के खिलाफ प्रदेश के कई स्थानों पर फूँका ममता का पुतला, मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष शालिनी ने कहा : गठबंधन में महज़ दो-चार सीटें पाने के लिए दुष्कर्म और अनाचार की घटनाओं के पक्ष में खड़ी होकर कांग्रेस ने ममता सरकार का बचाव करने का निदनीय कृत्य किया

रायपुर रायपुर। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश इकाई ने प. बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं के साथ दुषकर्म और जमीनें हथियाकर आतंक फैल...

Also Read

रायपुर



रायपुर। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश इकाई ने प. बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं के साथ दुषकर्म और जमीनें हथियाकर आतंक फैलाए जाने को लेकर प. बंगाल सरकार के नाकारापन के खिलाफ शुक्रवार को प्रदेश के कई स्थानों पर प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पुतला फूँका और अपना आक्रोश व्यक्त किया।

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने बताया कि महिला मोर्चा ने दोपहर 2:00 से 5:00 के बीच सभी संभाग मुख्यालयों रायपुर, दुर्ग, बस्तर, सरगुजा, बिलासपुर के अलावा रायगढ़, कोरबा, कांकेर, राजनंदगांव सहित कई स्थानों पर प्रदर्शन कर पश्चिम बंगाल में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पुतला दहन किया। श्रीमती राजपूत ने कहा कि अब शेख की गिरफ्तारी के बाद उसके समेत उसकी पूरी गुण्डावाहिनी पर कड़ी कार्रवाई हो ताकि ऐसे आतंकी अपराधियों की रूह काँप जाए। एक महिला मुख्यमंत्री के शासन में महिलाओं पर ऐसा घिनौना अत्याचार होना बेहद निंदनीय और शर्मनाक है। विदित रहे, तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख और उसके समर्थकों ने न केवल खुलेआम आतंक फैलाकर महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया अपितु गरीबों और सरकारी कैम्प की जमीनों पर कब्जा भी कर लिया। इससे पहले जाँच करने पहुँची ईडी की टीम पर भी शेख के समर्थकों ने हिंसक हमला किया था।


भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती राजपूत ने कहा कि इससे अधिक शर्मनाक प्रदेश के कांग्रेस नेताओं का रवैया है, जिन्होंने प. बंगाल के संदेशखाली में जनजाति समाज की महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्म और अनाचार के संबंध में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय द्वारा प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लिखे गए पत्र को लेकर बनर्जी के साथ गठबंधन में महज़ दो-चार सीटें पाने के लिए वहाँ पर हो रहे दुष्कर्म और अनाचार की घटनाओं के पक्ष में खड़ी होकर ममता सरकार का बचाव करने का निदनीय कृत्य किया। प्रदेश के कांग्रेसियों को इस बात पर शर्म आनी चाहिए। श्रीमती राजपूत ने कहा कि महिलाओं पर अत्याचार, उनका यौन उत्पीड़न देश के किसी भी कोने में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता लेकिन कांग्रेस जिस तरह से अपने घमंडिया गठबंधन शासित राज्यों के ऐसे शर्मनाक और गंभीर आपराधिक मामलों को लेकर स्टैंड ले रही है, यह उसके नितांत महिला विरोधी राजनीतिक चरित्र का परिचायक है।


भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती राजपूत ने कहा कि दरअसल कांग्रेस के डीएनए में चाटुकारिता समाई हुई है और कांग्रेस लगातार चाटुकारिता करने में लगी है। छत्तीसगढ़ के संवेदनशील मुख्यमंत्री ने जब जनजाति समाज के साथ प. बंगाल में हो रहे दुष्कर्म पर, महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार पर ममता बनर्जी को पत्र लिखा है तो कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा! इससे यह स्पष्ट हो चला है कि निश्चित रूप से कांग्रेस को ऐसे गंभीर व शर्मनाक आपराधिक कृत्यों के मद्देनजर आम जनता, विशेषकर महिलाओं के साथ कोई मतलब नहीं है। महिलाएँ कांग्रेस के इस राजनीतिक चरित्र को अच्छी तरह समझ चुकी हैं और महिलाएँ कांग्रेस को कभी माफ़ नहीं करेंगीं, समय आने पर देश और प्रदेश की मातृ-शक्ति कांग्रेस को उसके इस दोहरे राजनीतिक चरित्र के लिए माकूल जवाब देगी।


इस दौरान भाजपा प्रदेश महामंत्री संजय श्रीवास्तव, सीमा संतोष साहू, स्वप्निल मिश्रा , किरण बघेल, कृतिका जैन, तिलेश्वरी धुरंधर, प्रवीण साहू, पुरुषोत्तम देवांगन, प्रणय साहू, गंधर्व, मिली बैनर्जी, सुषमा निर्मलकर, कामिनी देवांगन, सविता साहू, माया शर्मा, संगीत जैन, गीता रेड्डी,  पल्लवी भोसले, किरण सिंह, सरोज साहू, ललिता यादव गोरी यदु, मीना सेन, गायत्री नवरंग, सरिता वर्मा, सुशीला धीवर, सुमन प्रजापति, सुनील चौधरी अमरजीत छाबड़ा मकबूल खान सहित बड़ी संख्या में भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता पूरे छत्तीसगढ़ में धरना प्रदर्शन में शामिल हुए