Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा के निर्देश पर बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल नुकसान की प्रकरण तैयार, जिले के 547 ग्राम के 6 हजार 165 किसानों को मिलेगी मुआवजा राशि,उपमुख्यमंत्री ने सकरी और फोक नदी के कटाव से प्रभावित घरों को बचाने ठोक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए

 कवर्धा कवर्धा, उपमुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। उपमुख्यमंत्री श्री ...

Also Read

 कवर्धा


कवर्धा, उपमुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने केन्द्र तथा राज्य शासन की योजनाओं और उनके प्रगति की गहन समीक्षा की। उन्होंने बैठक में कबीरधाम जिले के समग्र विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क, पुल-पुलिया निर्माण, नवीन सिंचाई योजना, रोजगार और उद्यमिता विकास पर विशेष जोर दिया। उन्होंने इन सभी क्षेत्रों में नए कार्यो का प्रस्ताव बनाने के लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है। उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने अपनी पिछली बैठक में दिए गए निर्देशों की कंम्पलायंस और प्रगति की गहन समीक्षा की। उन्होने कहा कि संबंधित अधिकारी सिर्फ पत्राचारा तक सीमित ना रहे। उन्होने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि जिन-जिन विभागों को उनके विभाग से संबंधित निर्देश दिए गए है, उन सभी निर्देशों का पालन करना संबंधित विभाग की जिम्मेदारी हैं। उन्होने बैठक में  कहा कि सभी कार्यों को पूरा करने के लिए समय-सीमा भी निर्धारित की है, इस समय सीमा में सभी निर्देशों को पालन करें और विभागीय कार्यों में प्रगति भी लाए। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुशीला भट्ट, जिला पंचायत श्री रामकुमार भट्ट, कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव, वन मंडलाधिकारी श्री चूड़ामणि सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री संदीप कुमार अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।  

उपमुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा के निर्देश पर कबीरधाम जिले के ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से प्रभावित फसलों की क्षति पूर्ति के लिए उनके संबंधित किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत शीघ्रता से लाभ दिलाने के लिए प्रकरण तैयार कर लिया गया है। उन्होंने पिछली बैठक में जिले में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल नुकसान की समीक्षा कर प्रभावित किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ दिलाने के निर्देश दिए थे। उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा के निर्देश पर बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल नुकसान की प्रकरण तैयार कर लिए गए है। जिले के 547 ग्राम के 6 हजार 165 किसानों को मुआवजा राशि मिलेगी। बैठक में कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने बताया कि पिछले वर्ष दिसम्बर और इस वर्ष जनवरी और फरवरी माह हुए ओलावृष्टि औ बेमौसम बारिश से फसलों की क्षति पूर्ति के लिए सर्वें और आवेदन लेने की प्रक्रिया के बाद प्रभावित किसानों को क्षतिपूर्ति देने बीमा कंपनियों द्वारा प्रकरण तैयार कर लिया गया है।  कृषि उपसंचालक श्री राकेश शर्मा ने बताया कि ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से कबीरधाम जिले के 547 गांव 6165 किसानों ने अपने फसलों की क्षर्तिपूर्ति के लिए 23025 आवेदन किया है। अधिकांशतः चना के फसल को ज्यादा नुकसान हुआ है। उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने प्रभावित किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और प्राकृतिक आपदा के तहत नियमानुसार क्षतिपूर्ति राशि प्रकरण की स्वीकृति होने पश्चात बीमा कंपनी के प्रतिनिधि को बीमा दावा भुगतान शीघ्रता से प्रदाय करने के निर्देश दिए।

उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने जिले की शिक्षक विहीन एवं एकल शिक्षक स्कूलों की पूरी जानकारी ली। उन्होने जिले के 145 स्कूलों में अध्यापन कार्य सूचारू रूप से संपादित करने के लिए आगामी 15 जून तक स्थानीय शिक्षित युवकों को उनके शैक्षणिक योग्यता के आधार पर मानदेय के आधार पर शिक्षकों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने जिला शिक्षा अधिकारी को अध्यापन कार्य के लिए वैकल्पिक भर्ती प्रक्रिया से संबंधित सभी नियमशर्तें के साथ शीघ्रता से कार्य पूरा करने के निर्देश दिए।

उपमुख्यमंत्री श्री शर्मा ने जिले के सकरी नदी और फोक नदी के तट पर नदी के कटाव से प्रभावित ग्रामों की जानकारी ली। उन्होने सकरी नदी के कटाव से प्रभावित गांव कोडार और फोक नदी के सुरजपुरा के राजोदाई मंदिर के आसपास को बचाने के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्रीं ने बताया कि प्रधानमंत्री जनमन योजना के तहत जिले के विशेष पिछडी जनजाति 47 ग्रामों में आवागमन के लिए पक्की सड़क निर्माण कार्य के लिए करोड़ रूपए की स्वीकृति मिल गई है। उन्होने सभी स्वीकृत कार्य को शीघ्रता से शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि कार्यों कें शुभारंभ अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनधियों को भी आमंत्रित करें। उन्होने जिले के आमापानी से मुडघुसरी और आमापानी से माचापानी मार्ग को पीएमजनमन योजना में जोड़ने के निर्देश दिए। उन्होने मरका से खैरवार मार्ग और पिपरटोला से कल्याणपुर जर्जर मार्ग को मरम्मत करने के निर्देश दिए।

उन्होने आदिम जाति विकास विभाग के सभी आश्रम-छात्रावासों में विद्यार्थियों के कपडों की धुलाई के लिए वॉसिंग मशीन की खरीदी की प्रक्रिया शीघ्रता पूरी करने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री ने कवर्धा में बढती आबादी के हिसाब से शहर में रसोई गैस सिलेंडर से सुगमता से आपूर्ति बनाए रखने के लिए और नए एंजेसी खोलने के निर्देश दिए है। उन्होने शहर के भीतर आठ अलग-अलग स्थानों में सब्जी बाजार संचालित करने के लिए नगर पालिका अधिकारी को निर्देशित किया है। उन्होने कहा कि सब्जी विक्रेताओं को आर्थिक लाभ दिलाने के लिए इस कार्य को शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होने वन विभाग से होने वाली सभी तकनीकि अवरूद्धों को दूर करने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री ने जिले में नए सिंचाई परियोजनों की स्वीकृति के बाद जगमडवा जलाशय, घटोला जलाशय के कार्य शीघ्रता से शुरू करने के के निर्देश दिए। उन्होने जिले धानीखुटा के पुराना जलाशय को लघु सिचाई परियोजना के रूप में निर्माण करने के लिए जल संसाधन विभाग को  निर्देशित किया है। उन्होने आगामी खरीफ फसल 24-25 के धान खरीदी सीजन में जिले में निवासपुर और खोलवा को नए धान खरीदी केन्द्र बनाने निर्देशित किया है।

उपमुख्यमंत्रीं श्री विजय शर्मा ने नवाचार को प्रयोग करते हुए कबीरधाम जिले में उद्यमियता, कौशल विकास और रोजगार सृजन पर विशेष जोर दिया है। उपमुख्यमंत्री के निर्देश पर जिले में केले के तने से कपड़ा, साड़ी, स्टेशनरी सहित अन्य सामाग्री तैयार करने के लिए एक लघु उद्योग स्थापित की स्थापना की जाएगी। उन्होने इस तरह के लघु उद्योग की स्थापना के लिए केले के कच्चे माल की उपलब्धता, उनके मार्केंट मांग सहित इस लघु उद्योगों से मिलने वाले रोजगार सृजन की विस्तृत रिर्पोट बनाने के निर्देश दिए है। उन्होने बैठक में केले के तने से तैयार हुई साड़ी, कपड़ा व स्टेशनी समानों को अवलोकन भी किया। उपमुख्यमंत्री के निर्देश पर कबीरधाम जिले के स्थानीय युवाओं को गुड उद्योगों में तकनीकी रोजगार के अवसर मिलेगा। उपमुख्यमंत्री के निर्देश पर जिले के शिक्षित युवाओ को गुड़ उद्योग रोजगार के अवसर दिलाने के लिए कृषि विज्ञान केन्द्र में प्रशिक्षण दिया जा चुका है