Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

डबल इंजन की सरकार करेगी तेजी से विकास – विष्णुदेव साय, बस्तर से भाजपा का कमल खिलाकर अबकी बार 400 पार के संकल्प के साथ भाजपा को जिताना है

 रायपुर सुकमा/बस्तर/रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार का शंखनाद करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि कांग्रेस पार...

Also Read

 रायपुर


सुकमा/बस्तर/रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार का शंखनाद करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने आदिवासियों को सिर्फ वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया। वोट बैंक के रूप में आदिवासियों के वोट लेते रहे लेकिन आदिवासियों का विकास नहीं हुआ जबकि आजादी के 75 साल में 55-60 साल कांग्रेस की सरकार रही। इसको हम लोगों को समझने की आवश्यकता है। श्री साय गुरुवार को बस्तर संभाग के सुकमा और बस्तर के बड़ेधाराउर में भाजपा की चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे।


मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा कि बस्तर और सरगुजा हमारी सरकार के विशेष फोकस में रहेगा। जहां तक बस्तर क्षेत्र के विकास की बात है, यह भारतीय जनता पार्टी की देन है। हमारे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की देन है। जिला बनने के पहले सुकमा में ग्राम पंचायत, नगर पंचायत भी नहीं थी। लेकिन आज जिला बनने के बाद इस शहर हो गया है। पूरे बस्तर क्षेत्र का और छत्तीसगढ़ का विकास अगर किसी ने किया है तो भाजपा की सरकार ने किया है। श्री साय ने कांग्रेसी कुशासन की चर्चा करते हुए कहा कि पिछले 5 वर्षों में क्या हाल हुआ? पूरे बस्तर क्षेत्र ने विकास की गति पकड़ी थी, 15 वर्षों में डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में पूरे छत्तीसगढ़ का विकास हो रहा था, उसे रोकने का काम कांग्रेस की भूपेश सरकार ने किया। जो भी केंद्र से गरीबों के लिए योजनाएं थी और सबको बंद करने का काम कांग्रेस की सरकार ने किया। गरीबों का हक छीना। 5 साल में ग्रामीण क्षेत्र में एक भी गरीब का प्रधानमंत्री आवास नहीं बना। हमने विकास की जो शुरुआत की थी, वह भी अधूरी रहीं। गैस का सिलेंडर मिलना बंद हो गया, आयुष्मान भारत कार्ड बंद हो गया। जो हमारा बस्तर संभाग है, सरगुजा संभाग है, हमारे शासनकाल में किसी भी तरह से संसाधन की कमी नहीं हो, इसके लिए अलग से बस्तर विकास प्राधिकरण और सरगुजा विकास प्राधिकरण का गठन किया। भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी जब प्रधानमंत्री बने, उन्होंने पहली बार आदिवासियों के विकास के लिए पहली बार भारत सरकार में आदिम जाति कल्याण मंत्रालय का गठन किया। यह काम कांग्रेस क्यों नहीं कर पाई? इसलिए इस बार इस कांग्रेस को उखाड़ फेंकना है। विधानसभा के चुनाव में आप सब लोगों का आशीर्वाद मिला और भाजपा को ऐतिहासिक विजय मिली। यह आशीर्वाद अभी यह लोकसभा के चुनाव में भी देना है। डबल इंजन की सरकार रहेगी तो तेजी से विकास होगा। श्री नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए बस्तर लोकसभा को भी सहभागी होना पड़ेगा।


मुख्यमंत्री श्री साय ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कहा कि आज प्रदेश सरकार के 100 दिन पूरे हो रहे हैं। मात्र 3 महीने में मोदी की गारंटी में जो हमारी पार्टी का जो वादा था छत्तीसगढ़ की जनता से, अधिकांश हम लोगों ने पूरा किया है। आज 18 लाख प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति दिए हैं। 13 दिसंबर को हमारी सरकार ने शपथ ली और 14 दिसंबर को ही पहली कैबिनेट बुलाकर 18 लाख प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति दे दिए हैं। अगले महीना से सब का धड़ाधड़ प्रधानमंत्री आवास बनना शुरू हो जाएगा। हमारे किसानों को उम्मीद नहीं थी कि 2 साल का बकाया बोनस मिल जाएगा। हमारी सरकार आई तो 25 दिसंबर के दिन हमारे छत्तीसगढ़ के निर्माता सदैव अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती सुशासन दिवस को 12 लाख से ज्यादा किसानों का 2 साल का बकाया बोनस 3716 करोड़ रुपया देने का काम छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार ने किया। आज 21 क्विंटल प्रति एकड़ के हिसाब से बंपर धान की खरीदी हुई। 24.75 लाख से ज्यादा किसानों को 3100 रुपए प्रति क्विंटल धान की कीमत भी दी। महतारी वंदन योजना में 70 लाख से ज्यादा माता बहनों को 10 मार्च को प्रधानमंत्री श्री मोदी की उपस्थिति में 655 करोड़ रूपया उनके खाते में ट्रांसफर किया गया। प्रदेश के बेटे-बेटियों के साथ पीएससी में धोखाधड़ी हुई. उसकी सीबीआई जाँच का वादा भी हमने पूरा किया है। श्री साय ने कहा कि तेंदूपत्ता, जिसको हरा सोना बोलते हैं, के संग्रहण कार्य से लाखों परिवार लाभान्वित होते हैं। हमारी सरकार ने प्रति मानक बोरा 5500 रुपए की दर से तेंदूपत्ता खरीदने का निर्णय लिया है। चरण पादुका योजना, आदिवासी बच्चों को स्कॉलरशिप की पुरानी व्यवस्था फिर से हमारी सरकार चालू करने वाली है। जो भूमिहीन मजदूर हैं, किसान हैं, उनको 10 हजार रुपए साल में देने का काम, 500 रुपए में गैस सिलेंडर देने का काम मोदी सरकार ने किया है। श्री साय ने कहा कि लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण में ही 19 अप्रैल को बस्तर लोकसभा में मतदान होना है। इसमें आप सबको अपने वोट का इस्तेमाल करना है और बस्तर से भाजपा का कमल खिलाकर अबकी बार 400 पार के संकल्प के साथ भाजपा को जिताना है।


*भाजपा राजनीति नहीं करती, राष्ट्र नीति करती है – किरण सिंह देव*


सभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष किरण देव ने बस्तर के विकास को भाजपा सरकार की देन बताते हुए कहा कि 5 साल की कांग्रेस सरकार ने बस्तर के विकास का एक भी काम नहीं किया। बस्तर की किसी प्रकार की सुध कांग्रेस के किसी नेता ने नहीं ली। तो फिर कांग्रेस को वोट क्यों? जो जनता के हित में काम करें जो जनता की चिंता करे, जो जनता के लिए विकास के काम करे, उस भाजपा को वोट देने का निश्चय बस्तर की जनता कर चुकी है। भाजपा जो कहती है, वह करती है। जो वादा भारतीय जनता पार्टी ने आपके समक्ष किया था उसको पूरा किया। यह पहली भाजपा की प्रदेश सरकार है जिसने मोदी जी के गारंटी की योजना पर गारंटी लगाई है और जो चार प्रमुख वादे किए थे वह पूरे कर दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो किसान सम्मान निधि दे ही रहे हैं। लेकिन इन 5 सालों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों के लिए आवास आप तक पहुंचने से रोका गया और इन तीन महीनों में हमारी सरकार ने 18 लाख प्रधानमंत्री आवास बनाने की योजना को स्वीकृति प्रदान की। ऐसे ही घोषणा पत्र पर प्रमुख बिंदुओं को हमने 100 दिनों में पूरा किया। भाजपा की सरकार गांव-गरीब, किसान, माता-बहनों, सबकी चिंता करने वाली सरकार है। यह 5 साल में अत्याचार, अन्याय करने वाले भ्रष्टाचारी, दुराचारी कोल माफिया, रेत माफिया, अनेकों प्रकार के भ्रष्टाचार के काम करने वाली कांग्रेस सरकार रही जिसके नेता सिर्फ अपनी जेबों को भरने का काम करते रहे। प्रधानमंत्री श्री मोदी सबकी चिंता कर रहे हैं, इसीलिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कहते हैं कि भाजपा राजनीति नहीं करती, राष्ट्र नीति करती है।


*भारत को दुनिया के नक्शे में सबसे शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में स्थापित करने वाले नेतृत्व का चुनाव है – ओपी चौधरी*


प्रदेश के वित्त मंत्री ओ.पी. चौधरी ने कहा कि कांग्रेस ने आदिवासी के नाम पर तो धोखा किया था भारतीय जनता पार्टी ने एक आदिवासी बेटा को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बनाकर के आदिवासी स्वाभिमान को एक नई ऊंचाई पर पहुंचाया है। कलेक्टर के तौर पर अपने कार्यकाल के दिनों की याद करते हुए श्री चौधरी ने कहा कि उस समय बहुत कठिन परिस्थिति थी। उन कठिन परिस्थितियों से इस क्षेत्र को निकालने के लिए हम सब लोगों ने भारतीय जनता पार्टी के शासन में बहुत अच्छे तरीके से काम किया था। सुकमा कोंटा को सड़क की खराब स्थिति से बाहर निकालकर अच्छे तरीके से सड़क बनाने का काम भाजपा की सरकार ने किया। काली मेला पुल के लिए भाजपा की सरकार ने तत्काल स्वीकृति दी और सुकमा क्षेत्र का ओड़िशा से सीधा संपर्क स्थापित हो पाया। यहां पर एजुकेशन सिटी का निर्माण हो, सुकमा को जिला बनाने का काम हो, यह सब काम भाजपा की सरकार ने किया। कांग्रेस को 50 साल तक राज करने का मौका मिला लेकिन 1998 तक पूरे बस्तर को एक ही जिला बना करके रखे रहे। बस्तर की चिंता कभी कांग्रेस ने नहीं की। आज बस्तर विकास के रास्ते पर आगे बढ़ने लगा है। बस्तर को, दक्षिण बस्तर को, दंतेवाड़ा-सुकमा-बीजापुर को नक्सलगढ़ के रूप में जाना जाता था लेकिन आज यह नक्सलगढ़ नहीं, शिक्षा का भी घर है। आज गांव-गांव के बच्चों को पढ़ाई करने का मौका मिलता है। इस तरह से अनेक काम आप सब लोगों के आशीर्वाद से हम सब लोग भाजपा शासन  में किए। अब तीन महीना में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और प्रदेश अध्यक्ष किरण देव के नेतृत्व वाली पार्टी की सरकार ने जो काम किया है, उससे पूरा प्रदेश भलीभाँति अवगत है। कांग्रेस 5 साल में कोई काम नहीं कर पाई। कांग्रेस के लोग अपने लिए घर बना रहे थे, पर नरेंद्र मोदी की पार्टी, विष्णु देव की पार्टी 18 लाख लोगों का घर बनाती है। आज नरेंद्र मोदी को, युवा महेश कश्यप, जो अपने लिए नहीं समाज के लिए जीने वाले व्यक्ति हैं, को चुनने का हमको अवसर मिला है। यह चुनाव केवल महेश कश्यप का चुनाव नहीं है, नरेंद्र मोदी का चुनाव है। भारत को दुनिया के नक्शे में सबसे शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में स्थापित करने वाले नेतृत्व का चुनाव है। 


सभा को प्रदेश के वन मंत्री केदार कश्यप ने भी हल्बी बोली में संबोधित किया। इस अवसर पर श्रीमती ओजस्वी मंडावी, विद्याचरण तिवारी, सुधीर पांडे, जिला अध्यक्ष धनीराम बारसे, अरुण सिंह भदोरिया, हुंगाराम मरकाम, सोयम मुका, नूपुर वैदिक, कोर्स शनू, विश्वराज सिंह चौहान, जिला महामंत्री पीलूराम यादव, मनोज देव, ओम प्रकाश शर्मा,  डमरू राम नाथ, बलिराम नायक, अमर पोयम, जी साईं रेड्डी, सुखदेव नाग, लीलाधर राठी समेत वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता उपस्थित थे