Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

सियासी खलबली के बीच सीएम के करीबी ने किया दावा, इस दिन होगा 'कम बैक', क्या गिर जाएगी बिहार की सरकार ?

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों अपने तेवरों और बयानबाजी के चलते चर्चाओं में बने हुए हैं. इस बीच नीतीश के करीबी रहे जीतन राम मांझ...

Also Read

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों अपने तेवरों और बयानबाजी के चलते चर्चाओं में बने हुए हैं. इस बीच नीतीश के करीबी रहे जीतन राम मांझी ने बड़ा बयान दिया है. मांझी का दावा है कि 4 फरवरी से पहले नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी हो सकती है. उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि 25 जनवरी को खेला होबे, खेला होई और खेला होबे तो आप सब देखिएगा कि 25 तारीख के बाद कोई ना कोई खेला होगा.

बता दें कि नीतीश कुमार और महागठबंधन के बीच मनमुटाव की चर्चाओं ने नीतीश की एनडीए में वापसी की खबरों को बल दे दिया है. वहीं इस बीच बीते मंगलवार को नीतीश कुमार ने बिहार के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद से कयासों का बाजार और बढ़ गया.

इंडी गठबंधन में सबकुछ देरी से हो रहा- त्यागी

जेडीयू के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी ने साफ तौर पर कहा कि इंडिया गठबंधन में हर चीज में देरी हो रही है. उसी के कारण सब नाराज हो रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने परिवारवाद को लेकर जो कहा उसका लालू परिवार से कोई लेना देना नहीं है. अभी तक महागठबंधन में सब ठीक है और आगे भी ठीक रहने की संभावना है. बता दें कि इससे पहले लालू यादव की बेटी ने पहले नीतीश कुमार को लेकर ट्वीट किया था. हालांकि उन्होंने बाद में ट्वीट डिलीट किया था. जिसके बाद केसी त्यागी का ये बयान आया.

नीतीश ने ठुकराया था इंडिया का ये प्रस्ताव

नीतीश कुमार लंबे समय से इंडिया गठबंधन में अहम जिम्मेदारी और जल्द से जल्द सीटों का बंटवारा चाहते थे. हालांकि ऐसा हुआ नहीं. जब कांग्रेस ने उनका नाम संयोजक के लिए प्रस्तावित किया तो नीतीश ने इनकार कर दिया है.

पीएम की तारीफ

वहीं नीतीश कुमार ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की है. उनका कहना था कि कर्पूरी ठाकुर को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न दिया जाना हार्दिक प्रसन्नता का विषय है. वर्षों की पुरानी मांग आज पूरी हुई है. इसके लिए पीएम नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद.