Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

पालने-पोषने वाले माता-पिता को बेइज्जत कर घर से भाग जाने वाली लड़कियों की हो जाती है कैसी दुर्गति, देखिए ? बेरला क्षेत्र में मिला एक लड़की का वीभत्स शव

अधिक होशियार, स्मार्ट बनने की कोशिश में ऐसे ही मारी जा रही हैं, हमारी बच्चियां  बिरनपुर के लोगों का सरकार बदलने लक्ष्य नहीं है , नई पैदा हो ...

Also Read



अधिक होशियार, स्मार्ट बनने की कोशिश में ऐसे ही मारी जा रही हैं, हमारी बच्चियां

 बिरनपुर के लोगों का सरकार बदलने लक्ष्य नहीं है , नई पैदा हो रही सामाजिक बुराई को बदलने के लिए संघर्ष है उनका 

छत्तीसगढ़.

 असल बात न्यूज़.

 00 चिंताजनक सामाजिक स्थिति/ बढ़ता अपराध

           00   विशेष संवाददाता 

 ऊपर के चित्रों को देखकर आपका भी मन द्रवित हो सकता है.आपके दिल से भी चीख निकल सकती है कि ऐसी भयंकर घटना कैसे हुई और किसके साथ ऐसी वीभत्स घटना हुई है.आप, यह जो दिलदहला देने वाला चित्र देख रहे हैं,यह एक लड़की का शव है जिसे किन्ही दरिंदों ने बुरी तरह से जलाकर मार डाला गया है. जब उसे जलाया जा रहा था, तो लड़की कितनी रोई होगी कितनी चीखी, चिलाई होगी, इसे तो हम सब समझ सकते हैं, लेकिन हत्यारों, ने उसे बचने का कोई मौका नहीं दिया, भागने का कोई मौका नहीं दिया, बुरी तरह से जला दिया.. अभी उन दरिंदों का कोई पता नहीं चल सका है ना ही इस मासूम लड़की की शिनाख्त हो सकी है. ऐसी घटनाएं सामने आती हैं तो हमारे जेहन में कई तरह के सवाल उठने लगते हैं. जैसे कि यह मासूम, कैसे किसी खूंखार भेड़िए के जाल में फंस गई और इस तरह के जघन्य घटना की शिकार हो गई? उन दरिंदों ने कैसे इस मासूम को नोच-नोंच कर पूरी निर्दयता से  ज़लाकर, तड़पा- तड़पाकर मार डाला. किन खूंखार दरिंदों ने बेचारी मासूम को इतनी बुरी तरह से जलाकर मार डाला है? लेकिन इतना तो है कि यह मासूम लड़की, उन खूंखार दरिंदों को पहले से जरूर जानती रही होगी.घटना में जिस तरह के तथ्य मिले हैं उससे पता चलता है कि मासूम लड़की की उन दरिंदो से पूर्व से संपर्क में थी और वह उनके साथ पहले भी कहीं आती जाती रही होगी. पालने पोषने वाले माता-पिता को बेइज्जत कर घर से भाग जाने वाली लड़कियों की अभी ऐसी दुर्गति होने की घटनाएं लगातार सामने आ रही है और अनुमान लगाया जा रहा है कि यह  भी इसी तरह की घटना हो सकती है. प्रकरण में अपराधियों का पता लगाने स्थानीय पुलिस जी जान से जुट गई है.

 इस मासूम लड़की की उम्र 25 से 32 साल के बीच होने का अनुमान लगाया जा रहा है. उसका शरीर बुरी तरह से जला दिया गया है. शरीर के कुछ हिस्से ही शेष रह गए हैं. बाकी हिस्सा,इतना बुरी तरह से जल गया है कि उसे पहचानना मुश्किल हो रहा है. जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है निश्चित रूप से वह दूरदांत शातिर अपराधी है. वह अपराधी जरुर जानता रहा होगा कि शव को बुरी तरह से जला देने से उसकी पहचान कर पाना मुश्किल हो जायेगा और ऐसे में पुलिस को उसे अपराधी तक पहुंचने में भी कठिनाई होगी. ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी है जिसमें अपराधियों के द्वारा शव को बुरी तरह से जलाकर साक्षयों को मिटा देने की कोशिश की गई है ताकि पुलिस, उन अपराधियों तक  पहुंच ना सके और अपराधियों को खोजने पुलिस हमेशा भटकती रहे. लेकिन यह तो तय है कि हत्यारे कोई बहुत अधिक दूर के नहीं होंगे. पुलिस मामले में तेजी से जांच कर रही है और संभावना है कि वह हत्यारों तक  जल्दी ही पहुंच जाएगी.

 इस घटना की कुछ भयानक  तस्वीरे और देख लीजिए..


 हाथों में भरी पूरी चूड़ियां है... कड़ा है.. लेकिन अब हाथ नहीं है... पूरा हाथ जलकर राख कर दिया गया है..

 मासूम लड़की का बुरी तरह से जला हुआ यह वीभत्स शव इस बार बेरला थाना क्षेत्र के जंगल क्षेत्र में मिला है. आशंका जाहिर की जा रही है कि कहीं दूसरी जगह जलाकर लड़की का शव यहां आकर फेंक दिया गया होगा. घटना 17- 18 जनवरी के आसपास की है. लेकिन 10 दिनों के बाद भी लड़की की अभी तक कोई पहचाना नहीं की जा सकी है. लड़की का पैर और हाथ का ही सही कुछ सही सलामत बचा है. यह दूरदांत अपराध उन लड़कियों के लिए सबक हो सकता है जो कि माता-पिता की इज्जत को ठेंगा दिखा कर नासमझी में हमेशा अपने घर से भागने के लिए आतुर रहती हैं औऱ किसी के बहकावे में आकर अपने घर से भाग जाती हैं. जो लड़कियां प्रेमलाल में फंसी हुई है और अपने आप को इससे बहुत भाग्यशाली समझ रहे हैं उन्हें यह न्यूज़, जरुर देखना और समझना चाहिए कि अपराधी किस तरह से अपराध करते हैं कि शव की कई कई दिनों तक पहचान तक नहीं हो पाती.


 यह घटना उसी बेमेतरा जिले की है जहां की बिरनपुर की घटना पूरे देश में सुर्खियों में बनी रही है  स्थानीय पुलिस के द्वारा मृतका की पहचान के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है.लड़की अपने हाथ में एक अंगूठी पहने हुई थी जिसपर एस लिखा हुआ है. मृतका किसी संपन्न घर की ही लगती है. उसने हाथ और पैरों में मेहंदी लगा रखा था. उसने आंखों पर महंगा चश्मा भी पहन रखा था,और लगता है कि कई सारे जेवर भी पहन रखे थे. वह चश्मा पुलिस को शव  के पास मिला है. घटना की परिस्थितियों को देखकर लग रहा है कि जरूर वह किसी विवाद के बाद मारकर और जलाकर यहां लाकर फेंक दी गई है. उसका शरीर बुरी तरह से जलकर चल गया है. निर्दय अपराधियों ने उसका शरीर किस बुरी तरह से जलाया है, औऱ कितने तड़प तड़प कर उसकी मौत हुई होगी, इसकी कल्पना की जा सकती है.अपराधियों ने उसे चारों तरफ से घर कर जलाया होगा. और यह अनुमान लगाया जा सकता है कि इस मामले में एक नहीं कई अपराधी शामिल हो सकते हैं. लड़की ने अपने बचाव ki बहुत कोशिश की होगी, बचने के लिए बहुत हाथ पैर मारे होंगे की लेकिन वह बच नहीं सकी, आश्चर्य की बात है कि कहीं किसी परिजन के द्वारा अपनी लड़की की तलाश में सामने आने की खबर भी नहीं है और आसपास से कहीं किसी लड़की के गुम होने की कोई सूचना भी नहीं है.

 यह तो स्वाभाविक है कि इस मासूम लड़की के माता-पिता कहीं ना कहीं जरूर रो रहे होंगे. हो सकता है कि लड़की के व्यवहार से नाराज,नाखुश होकर वे अभी सामने नहीं आना चाहते हो. जो लड़कियां, अपना घर छोड़ने की तैयारी कर रही हो, अपने माता-पिता के घर से भाग जाना ही उन्हें बेहतर लगता हो, जिन्हें, लगता हो कि किसी लड़के के साथ भाग जाने से उन्हें बेहतर जिंदगी मिल जाएगी, उन्हें इस न्यूज़ को जरुर देखना औऱ समझना चाहिए.  बेमेतरा जिला पुलिस के द्वारा प्रकरण में  मृत लड़की की पहचान करने और अपराधियों का पता लगाने लगातार प्रयास किया जा रहा है. यह भी तय है कि मृत लड़की जरूर ही स्मार्टफोन का उपयोग करते रही होगी, उसके मोबाइल फोन का, उसके नंबर का पता चल जाए तब भी अपराधी तक पहुंचा जा सकेगा. अभी यह पता नहीं चल सका है कि  पुलिस उसके मोबाइल नंबर, मोबाइल फोन तक पहुंच सकी है अथवा नहीं. इतना टाइम है कि प्रकरण का अपराधी बच नहीं सकेगा. 'असल बात न्यूज़' की टीम भी इस मामले में अपने तरह से पड़ताल करती रहेगी.