Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कलेक्टर ने एसडीएम की अध्यक्षता में पलायन रोकने और पलायन हुए लोगों का रिकार्ड संधारित करने कमेटी बनाने की निर्देश दिए, कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में मौसमी बीमारियों के रोकथाम और जागरूकता संदेश देने के निर्देश दिए

 कवर्धा कलेक्टर ने भू-अर्जन के लंबित प्रकरणों को शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश दिए कवर्धा, कलेक्टर  जनमेजय महोबे ने जिले के आदिवासी एवं...

Also Read

 कवर्धा


कलेक्टर ने भू-अर्जन के लंबित प्रकरणों को शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश दिए

कवर्धा, कलेक्टर  जनमेजय महोबे ने जिले के आदिवासी एवं विशेष पिछड़ी जाति बैगा बाहुल्य पंडरिया एंव बोडला विकासखण्ड स्तर पर बैगा गावों में से लगातार आ रही पलायान की शिकायतों को बेहद गंभीरता से लिया। कलेक्टर ने बैगा बाहूल्य गांवों सहित मैदानी गांवों में पंचायत स्तर पर होने वाले पलायन पंजी को संधारित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने ऐसे गावों के लिए एसडीएम के अध्यक्षता में श्रम विभाग, महिला एंव बाल विकास विभाग के बाल सरंक्षण अधिकारी और स्थानीय स्तर पर शासकीय सेवकों तथा स्थानीय जनप्रतिनधियों की एक कमेटी बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने एक सप्ताह के भीतर विस्तृत सर्वे रिपोर्ट अपर कलेक्टर कार्यालय में प्रस्तुत करने के लिए कहा है। कलेक्टर ने जिला पंचायत में ग्रामवार मनरेगा के तहत रोजगार मूलक स्वीकृत कार्यों एवं नए कार्यों की मांग पत्र भी जनपद स्तर से मंगाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने मंगलवार को कलेक्टोरेट कार्यालय के सभा कक्ष में समय-सीमा की बैठक ली। उन्होने समय-सीमा में लंबित एक-एक प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की और शीघ्रता से सभी लंबित प्रकरणों के निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सड़क, सिचाई परियाजना सहित अन्य निर्माण कार्यों के लंबित भू-अर्जन प्रकरणों को एसडीएम स्तर पर शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में वर्ष 2024-25 के लिए विकास योजना तैयार करने के लिए जिला योजना सांख्यिकी विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने समस्त जला स्तरीय अधिकारियों को शीघ्रता से जानकारी उपलब्ध कराने के लिए भी कहा है।

कलेक्टर ने बैठक में मौसमी बीमारियों के रोकथाम और कोविड़-19 कोरोना वायरस के प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जिला स्तर पर तैयारियों की समीक्षा भी की। यहां बताया गया कि जिला अस्पताल में अलग से 20 बेड की आईसीयू वार्ड तैयार कर लिया गया है, इसके अलावा अन्य सारी सुविधाएं भी तैयार है। फिलहाल जिले में एक भी केस सामने नहीं आया है। सीएमएचओं डॉ. सुजॉय मुखर्जी ने बताया कि जिला अस्पताल में आने वाले सर्दी, खांसी के मरीजों की संख्या बढ रहीं है। कोविड-19 के नए वैरियंट को देखते हुए सतर्कता बरती जा रही है। जिला अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए सभी तैयारी पूर्ण है, अस्पताल में चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टॉफ की तीन शिफ्ट में डयूटी लगाई गई है।  कोरोना के नियंत्रण के लिए मैदानी स्तर पर स्वास्थ्य अमलें को निर्देशित किया गया है। आईसीयू बेड में ऑक्सीजन सहित सभी आवश्यक सुविधाए मौजूद है। इसके अलावा स्व. श्रीमती सुधा देवी धर्मशाला में 40 ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड तैयार है। जिले में सभी स्वास्थ्य अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं, मितानिनों एवं ऑगनबाडी कार्यकर्ताओं को जनता में आवश्यक एहतियात बरतने तथा सतर्क रहने तथा कोरोना के लक्षण दिखने पर तत्काल सूचित करने निर्देश दिए गए है। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में चिकित्सक, नर्सिंग स्टॉॅफ की डॅयूटी लगा दी गई है। आवश्यकता पडने पर अतिरिक्त चिकित्सक एवं स्टॉफ उपलब्ध है। सीएमएचओ डॉ सुजॉय मुखर्जी ने बताया कि जिले में एक भी नए प्रकरण नहीं है, रोजाना सौ से अधिक जांच की जा रही है। प्रदेश में फिलहॉल रायपुर,बिलासपुर, कांकेर में सिर्फ 9 धनात्मक प्रकरण मिले ही। कबीरधाम जिले में स्थिति पूर्णतः नियंत्रण पर है। विकसित भारत संकल्प यात्रा के तहत आयोजित होने वाले शिविरों में मौसमी बीमारियों के रोकथाम और उनके बचने के उपाय सहित स्वास्थ्य शिविर पर निःशुल्क उपचार भी किया जा रहा है। बैठक में वनमंडलाअधिकारी श्री चूडामणि सिंह, अपर कलेक्टर श्री इन्द्रजीत बर्मन, जिला पंचायत सीईओ श्री संदीप अग्रवाल, संयुक्त कलेक्टर डॉ मोनिका कौड़ो, सहित एसडीएम और जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे