Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

जीपीएस मैप कैमरा का उपयोग चालान के लिए करेगी यातायात पुलिस दुर्ग,जीपीएस मैप कैमरे से लिये गये फोटो के आधार पर नोटिस वाहन चालक के घर या वाट्सअप नंबर पर भेजा जायेगा

 दुर्ग        यातायात पुलिस दुर्ग हमेशा से यातायात व्यवस्था बनाने के लिए आधुनिकरण का उपयोग करते आ रही है जीपीएस मैप कैमरा के उपयोग से कार्यव...

Also Read

 दुर्ग

      


यातायात पुलिस दुर्ग हमेशा से यातायात व्यवस्था बनाने के लिए आधुनिकरण का उपयोग करते आ रही है

जीपीएस मैप कैमरा के उपयोग से कार्यवाही स्थल पर वाद विवाद की स्थिति निर्मित नहीं होगी एवं पारर्दिर्शता बने रहेगी

       वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, दुर्ग  श्री रामगोपाल गर्ग* द्वारा जिले की यातायात व्यवस्था को लेकर निरंतर कार्य किया जा रहा है इसी प्रकार कुछ ऐसे वाहन चालक जो नियमों के जानकार होकर भी जानबूझकर यातायात नियमों का उल्लंघन करते है उनके उपर कार्यवाही करने के दिये निर्देश पर *श्री सतीष ठाकुर, श्री सदानंद विध्यराज, उप पुलिस अधीक्षक (यातायात)* के नेतृत्व में यातायात पुलिस दुर्ग द्वारा वर्तमानमें मैनवली चालान बनाया जाता रहा है एवअब यातायात पुलिस दुर्ग आधुनिकरण का उपयोग करते हुए जीपीएस मैप कैमरा का उपयोग चालान के लिए करेगी।


    यातायात पुलिस दुर्ग द्वारा *बिना हेलमेट वाहन चलाने वाले, दो पहिया वाहन में तीन सवारी, नाबालिक द्वारा वाहन चालन, मोडिफाईड सायलेंसर, गलत नंबर प्लेट, माल वाहक में सवारी ले जाना ऐसे वाहन चालको* का जीपीएस मैप कैमरा के माध्यम से फोटो खीचकर वाहन मालिक को नोटिस जारी किया जावेगा जिसे तीन दिवस के भीतर वाहन मालिक को नेहरू नगर यातायात मुख्यालय आकर उक्त संबंध में अपना पक्ष रख कर अग्रिम कार्यवाही की जावेगी। जीपीएस मैप कैमरा से कार्यवाही करने मे निम्नलिखित लाभ हैः-


 01- जीपीएस कैमरा से फोटो लेने पर फोटो में लोकेशन, दिनांक, समय, वाहन नंबर एवं वाहन चालक द्वारा कौन से यातायात नियम का उल्लंघन किया है क्लीयर हो जाता है। 


 02- वाहन चालक को कार्यवाही स्थल पर ज्यादा देर रोकने की आवश्यकता नहीं पडती। 


 03- वाहन नंबर से वाहन मालिक का डिटेल निकालकर घर नोटिस भेजा जाता है। 


 04 - कार्यवाही के दौरान वाहन मालिक मुकर नहीं सकता। 


 05- जीपीएस मैप कैमरा के उपयोग से कार्यवाही स्थल पर वाद विवाद की स्थिति निर्मित नहीं होगी एवं पारर्दिर्शता बने रहेगी।   

06- पुलिस के सभी स्टाफ़ निरीक्षक से आरक्षक तक सभी उपयोग कर सकते है