Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास पर ग्रामीणों को दिया भोज, भेंट मुलाकात के दौरान जिन ग्रामीणों के यहां भोजन किया उन्हें आमंत्रित किया था भोज में

रायपुर । असल बात न्यूज़।।   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान जिन ग्रामीणों के यहां भोजन किया था उन ग्रामीणों ने आज ...

Also Read

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।  

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान जिन ग्रामीणों के यहां भोजन किया था उन ग्रामीणों ने आज उनके निवास पर उनके साथ खोज किया।मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इन सभी ग्रामीणों को अपने निवास पर भोज के लिए आमंत्रित किया था। भोज में अंबिकापुर, बस्तर संभाग के दूर-दूर के स्थानों के ग्रामीणों ने भोज किया।इस अवसर पर संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, संसदीय सचिव, क्षेत्र के विधायकगण भीसाथ में  उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने सभी मेहमानों का अपने निवास पर स्वागत करते हुए कहा कि मैने आप सबके घर भोजन किया था, जिस स्नेह और अपनत्व से आप लोगों ने मेरा स्वागत किया उससे में अभिभूत हूँ।आज मुझे भी आप लोगों को अपने निवास पर आमंत्रित कर स्वागत का अवसर मिला। आपने तेंदू सहित अनेक फल, तरह तरह की भाजियां सरगुजा और जशपुर में हैं, अब तक नहीं खाया था।

आपके साथ परिवार के लोग और बच्चे भी पहली बार आए हैं। आप सभी का स्वागत है।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों के पास जाकर उनसे बड़ी ही आत्मीयता से मुलाकात की। उनका कुशलक्षेम पूछा, घर-परिवार की बात की।सभी मेहमानों को बिठाकर मुख्यमंत्री आम आदमी की तरह उनके साथ खड़े रहे।

मुख्यमंत्री ने आज अपने निवास में सरगुजा से आए मेहमानों का पारम्परिक छत्तीसगढ़ी व्यंजन मूंग दाल का देहाती बड़ा, कढ़ी वाली भिंडी, लौकी चना दाल, मूंग भाटा आलू, टमाटर चटनी के जायके के साथ स्वागत किया।स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेम साय सिंह टेकाम, संसदीय सचिव श्रीमती अम्बिका सिंहदेव और डॉ विनय जायसवाल, विधायक श्री रामपुकार सिंह, श्री खेलसाय सिंह, श्री गुलाब कमरो, श्री पारसनाथ राजवाड़े भी इस अवसर पर उपस्थित हैं।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के आमंत्रण पर उनके निवास पहुंचे पत्थलगांव विधानसभा क्षेत्र के बागबहार निवासी श्री गौरीशंकर यादव ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि हमने कभी सोचा भी नहीं था कि मुख्यमंत्री जी कभी हमारे यहां भोजन के लिए आएंगे। हमने उन्हें देशी खाना खिलाया था, जिसे मुख्यमंत्री जी ने बड़े प्रेम से ग्रहण किया। आज मुख्यमंत्री जी ने हमें अपने निवास पर भोजन के लिए आमंत्रित कर हमें सम्मान दिया है।

सीतापुर विधानसभा के मैनपाट विकासखण्ड के ग्राम राजापुर से आए श्री राजनाथ एक्का ने बताया हमने कभी सोचा भी नहीं था कि मुख्यमंत्री जी आदिवासी किसान के घर आएंगे, उनके परिवार के सदस्यों ने बताया कि हम लोगों ने मुख्यमंत्री जी को लकड़ा की चटनी और कोइलरी भाजी खिलाई थी। आज मुख्यमंत्री निवास आकर बहुत अच्छा लग रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री जी को घर से लाया गुड़ और अपने बैग की लीची भेंट की।

सामरी विधानसभा के शंकरगढ़ से आए, जहां से मुख्यमंत्री श्री बघेल ने पिछले वर्ष 4 मई को भेंट-मुलाकात की शुरुआत की थी, शंकरगढ़ के श्री सत्यनारायण अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री उनके घर भोजन के लिए आए थे, उसे याद कर आज मुख्यमंत्री जी ने हमें भोजन के लिए बुलाया, छत्तीसगढ़ की परम्परा का निर्वाह किया और हमे सम्मान दिया।