स्वरूपानंद महाविद्यालय में माइक्रोबायोलाॅजिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया का बेस्ट स्टूडेंट अवार्ड वितरण समारोह

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।। 

माइक्रोबायोलाॅजिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा नवीन पहल कर राज्य के सभी महाविद्यालयों के  सूक्ष्मजीव विज्ञान एवं बायोटेक्नालाॅजी के स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तरीय छात्रों से से छात्रों का बेस्ट स्टूडेंट अवाॅर्ड के लिए चयन किया गया। अवार्ड वितरण समारोह स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में सम्पन्न हुआ जिसकी मुख्य अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग छत्तीसगढ़ की कुलपति डाॅ. अरूणा पल्टा रहीं। पुरस्कार के रूप में चयनित छात्रों को प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह प्रदत्त किये गये। छत्तीसगढ़ अंचल के सभी महाविद्यालयों से माइक्रोबायोलाॅजी में दो एवं बायोटेक्नोलाॅजी में दो प्रतिभावान छात्रों को पुरस्कृत किया गया। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के माइक्रो बायोलाॅजी विभाग से दो, बायोटक्नालाॅजी से दो एवं जीवविज्ञान और वनस्पति विज्ञान से एक-एक छात्रों को अवाॅर्ड दिया गया।

कार्यक्रम संयोजिका एवं विभागाध्यक्ष सूक्ष्मजीव विज्ञान डाॅ. शमा ए बेग ने कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि माईक्रेाबायोलाॅजी सोसायटी, इंडिया ने वर्ष 21-22 के लिये प्रतिभावान छात्रों को उनके सर्वांगीण विकास हेतु प्रोत्साहित करने के लिये बेस्ट स्टूडेंट अवार्ड की अभिनव पहल की है। छत्तीसगढ़ के तेईस महाविद्यालयों के दो-दो छात्रों का सूक्ष्मजीव विज्ञान एवं बायोटेक्नोलाॅजी से चयन किया गया एवं उन्हें प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह प्रदान किये गये। छात्रों का चयन उनके मेरिट एवं समग्र विकास को दृष्टिगत रखते हुए किया गया। अंचल के पचास छात्र-छात्राओं को इसके लिये चुना गया।

कुलपति डाॅ. अरूणा पल्टा ने अपने आतिथ्य उदबोधन में कहा यह गर्व की बात है छात्रों के प्रोत्साहन हेतु माइक्रोबायोलिजिस्ट सोसायटी ने एक अभिनव पहल की है जिससे छात्रों का उत्साह एवं मनोबल में वृद्धि होगी और वे भविष्य में उन्नति के शिखर पर अग्रसर होने के लिये प्रोत्साहित होंगे। उन्होंने स्वरूपानंद महाविद्यालय के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग को छत्तीसगढ़ का सर्वश्रेष्ठ विभाग चयनित होने पर बधाई दी । अवाॅर्ड कार्यक्रम का आयोजन कराने के लिए  और मैनेजमेंट को इस तरह के सतत् विकास के लिए सहायक रहने हेतु सराहा एवं पुरस्कृत छात्रों को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। 

कार्यक्रम में उपस्थित विशिष्ट अतिथि डाॅ. श्रीमती मोनिशा शर्मा मुख्य कार्यकारी अधिकारी शंकराचार्य नर्सिंग महाविद्यालय हुडको ने सभी छात्रों को बधाई दी और सतत् विकास के लिए प्रेरित किया। 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डाॅ. दीपक शर्मा एवम प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने महाविद्यालय एवं सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग को बधाई प्रेषित की एवं पुरस्कृत छात्रों के सतत् प्रगति की कामना की।


माइक्रोबाॅयोलाजिस्ट सोसायटी के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. अवधेष कुमार श्रीवास्तव विभागाध्यक्ष वनस्पति विज्ञान एवं सूक्ष्मजीव विज्ञान शासकीय महाविद्यालय उतई ने ”हम एवं सूक्ष्मजीव“ विषय पर अपने विचार व्यक्त करते हुए सूक्ष्मजीवों के विभिन्न लाभदायक एवं हानिकारक उपयोगों की विस्तार में चर्चा की। उन्होंने कहा कि आज सूक्ष्मजीव हर तरह से हमारे दैनिक कार्यों में संलिप्त हैं और कोरोना काल के बाद उनसे बचाव के हमने विभिन्न तरीके सीख लिये हैं। उन्होंने सभी छात्रों को बधाई दी एवं प्रोत्साहित किया।

माइक्रोबायोलाॅजिस्ट सोसायटी की प्रदेश स्तरीय संयोजिका डाॅ. प्रज्ञा कुलकर्णी, विभागाध्यक्ष सूक्ष्मजीव विज्ञान शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर  महाविद्यालय दुर्ग ने अपने अतिथि व्याख्यान में ओपन एजुकेशनल रिसोर्सेस के बारे में छात्रों को अवगत कराया। उन्होंने छात्रों को आनलाइन विभिन्न साइट्स के बारे में समझाया एवं पढ़ने के लिये उपलब्ध फ्री साइट्स जिनसे विद्यार्थी अपने विषय-वस्तु आसानी से सहेज सकते हैं एवं उनसे नोट्स बना सकते हैं की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने शोध छात्रों को प्लेगिरिज्म के महत्व के बारे में समझाया एवं उन्हें किस तरह शोध के लिए सामग्री एकत्र करनी है पर प्रकाश डाला। सभी पुरस्कृत विद्यार्थियों को माइक्रोबायोलाॅजी के विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी दी जिनसे वे रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। 

दुर्ग, भिलाई एवं रायपुर के पन्द्रह महाविद्यालय के बत्तीस छात्र-छात्राओं को सर्वश्रेष्ठ छात्र का प्रश्स्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह विश्वविद्यालय की कुलपति माननीय डाॅ. अरूणा पल्टा के द्वारा प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम में रूंगटा काॅलेज भिलाई, शासकीय नागार्जुन महाविद्यालय रायपुर, भिलाई महिला महाविद्यालय भिलाई, शंकराचार्य महाविद्यालय भिलाई, साॅंई महाविद्यालय भिलाई, सेंट थाॅमस महाविद्यालय भिलाई, संत गुरू घासीदास स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुरूद, स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई,शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय दुर्ग, शासकीय शहीद कौशल यादव महाविद्यालय गुण्डरदेही, शासकीय दानवीर तुलाराम स्नातकोत्तर महाविद्यालय उतई, शासकीय वा.वा. पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग, शासकीय महाविद्यालय वैशाली नगर के पुरस्कृत छात्र-छात्राएं एवं उनके प्रभारी उपस्थित थे।

कार्यक्रम को सफल बनाने में सूक्ष्मजीव विज्ञान की एमबीएसआई छात्र संगठन ने मुख्य भूमिका निभाई। इस संगठन की अध्यक्ष सृष्टि सोनी, उपाध्यक्ष अक्षिता पांडे, सचिव दीपिका पटेल, सहसचिव देविना यादव, कोषाध्यक्ष अनुरूपा ने सराहनीय योगदान दिया। कार्यक्रम में मंच संचालन श्रीमती संयुक्ता पाढ़ी विभागाध्यक्ष अंग्रेजी ने किया व धन्यवाद ज्ञापन सुश्री योगिता लोखंडे सहायक प्राध्यापक सूक्ष्मजीव विज्ञान ने किया। श्री अमित कुमार साहू सहायक प्राध्यापक सूक्ष्मजीव विज्ञान कार्यक्रम को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु विशिष्ट भूमिका निभाई। इस कार्यक्रम में डाॅ. शिवानी शर्मा विभागाध्यक्ष बायोटेक्नोलाॅजी, डाॅ. रजनी मुदलियार विभागाध्यक्ष रसायन विज्ञान, डाॅ. सुनीता शर्मा विभागाध्यक्ष जीवविज्ञान, सुश्री अपूर्वा शर्मा सहायक प्राध्यापक बायोटेक्नोलाॅजी तथा संजना सोलोमन सहायक प्राध्यापक बायोटेक्नोलाॅजी एवम महाविद्यालय के सभी प्राध्यापक एवम विधार्थीउपस्थित थे।