बागेश्वर बाबा के सम्मान में, कैलाश विजयवर्गीय मैदान में

 


बागेश्वर धाम पीठाधीश धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर अंधविश्वास फैलाने के आरोपों के बाद अब नेता भी उनके समर्थन में आ गए हैं। मध्य प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजय वर्गीय ने भी धीरेंद्र शास्त्री का समर्थन किया है। उन्होंने शास्त्री पर लगाए गए आरोपों को गलत बताया और दरगाह में लोगों के लोटने, पीटने की बात पर सवाल भी किया है। उनका कहना है कि जावरा दरगाह पर भी लोग लोटते, पीटते हैं, लेकिन इस बारे में कोई बात नहीं करता है। उन्होंने कहा, जब एक हिंदू महात्मा की बात होती है तभी इस तरह के प्रश्नचिह्न उठते हैं।

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने बागेश्वर धाम पीठाधीश धीरेंद्र शास्त्री का समर्थन करते हुए उनका इंटरव्यू देखने की भी बात कही। उन्होंने शास्त्री पर लगाए गए आरोपों को मिथ्या बताया है। उन्होंने कहा मैंने उनका इंटरव्यू देखा है। जिसमें वो कह रहे हैं कि ये मेरा चमत्कार नहीं है, मेरे ईष्ट का चमत्कार है। मुझे हनुमान जी और सन्यासी बाबा पर पूरा भरोसा है। मैं तो कुछ भी नहीं हूं। मैं तो बस एक छोटा सा साधक हूं।

अंधविश्वास फैलाने का लगा था आरोप
बागेश्वर धाम के पीठाधीश धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर समाज में अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगा था। पिछले दिनों नागपुर में कथा के दौरान अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति के अध्यक्ष श्याम मानव ने चुनौती दी थी। इस चुनौती के बाद बागेश्वर धाम पीठीधीश पर कथा छोड़कर भाग जाने का आरोप लगा था।

बताया था पत्रकार के चाचा का नाम
हाल ही में चल रही कथा के दौरान रायपुर में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपनी बातों को प्रमाणित करने के लिए एक न्यूज चैनल के पत्रकार के चाचा का नाम भी बताया था, जिसके बाद पत्रकार ने उनकी प्रशंसा की थी। पत्रकार ने यह भी दावा किया था कि उसने अपने अपने चाचा का नाम वहां किसी से नहीं बताया था।

लोगों ने कहा, सोशल मीडिया पर मौजूद है पत्रकार की सारी जानकारी
रायपुर में पत्रकार के चाचा का नाम बताने के बाद धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने पत्रकार की भतीजी का भी नाम बताया था। इस मामले के बाद लोगों ने सोशल मीडिया पर फोटो डालनी शुरू कर दी कि जो जानकारी धीरेंद्र शास्त्री बता रहे हैं पत्रकार के बारे में वो सभी जानकारियां उनके सोशल मीडिया पर उपलब्ध हैं।