"महिला लखपति कार्यक्रम" के अंतर्गत आजीविका के अवसरों की जानकारी देने कार्यशाला आयोजित

 


आजीविका गतिविधियों के विभिन्न विभागों की योजनाओं के साथ समन्वय के बारे में बताया गया 

रायपुर.

जानकारी देने कार्यशाला आयोजित

छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) द्वारा "महिला लखपति कार्यक्रम" के अन्तर्गत कांकेर जिले में विकासखंड मुख्यालय दुर्गूकोंदल में 'जनपद स्तरीय आजीविका संभावनाओं' को समेकित करने एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में ट्रांसफॉर्मिंग रूरल इंडिया फाउंडेशन (TRIF) के रिसोर्स पर्सन ने आजीविका मिशन को तकनीकी सहायता प्रदान करने के बारे में जानकारी दी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत संचालित विभिन्न योजनाओं के जनपद पंचायत स्तर के अधिकारी, लाइन विभाग के जनपद स्तर के अधिकारी, रोजगार सहायक तथा कम्युनिटी रिसोर्स पर्सन भी कार्यशाला में शामिल हुए।

कार्यशाला में दुर्गूकोंदल जनपद पंचायत क्षेत्र में उत्पादित होने वाले उत्पादों, वस्तुओं एवं सेवाओं तथा क्षेत्र के बाहर से खरीदी किए जाने वाले या मंगाए जाने वाले उत्पादों, वस्तुओं व सेवाओं पर चर्चा के साथ ही आजीविका के संभावित अवसरों के चिन्हांकन एवं उनके क्रियान्वयन की संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई। इस दौरान कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, पशुधन विकास विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने इन अवसरों को अलग-अलग विभागों की योजनाओं के साथ समन्वय के बारे में जानकारी दी।

कार्यशाला में ट्रांसफॉर्मिंग रूरल इंडिया फाउंडेशन के टीम लीडर श्री राजीव त्रिपाठी ने चिन्हांकित विभिन्न आजीविका के अवसरों एवं विकल्पों को रेखांकित किया जिससे कि कम्युनिटी रिसोर्स पर्सन द्वारा ग्राम गरीबी उन्मूलन योजना (VPRP) के तहत परिवारवार योजना बनाते समय इन विकल्पों का लाभ लिया जा सके। कार्यशाला में पब्लिक पॉलिसी इन एक्शन फेलो (PPIAF) श्री सोवन बेरा, मनरेगा के कार्यक्रम अधिकारी श्री ऋषि जैन और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की विकासखंड कार्यक्रम प्रबंधक (BPM) सुश्री नंदिनी भी मौजूद थीं।