मुख्यमंत्री भोजन करने आदिवासी वनपट्टाधारी किसान के घर पहुंचे

 


मुख्यमंत्री को खूब भाया नगरी दुबराज का चाँवल, उड़द बड़ा और आलू मुनगा की सब्जी

भोजन के दौरान खेती किसानी की चर्चा और परिवार का कुशलक्षेम भी पूछा

श्री नेताम ने कहा- यह मेरे परिवार के लिए सौभाग्य की बात

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान सिहावा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम बेलरगांव में आदिवासी वनपट्टा धारी किसान एवं श्रमिक श्री शिवप्रसाद नेताम के घर भोजन करने पहुंचे। उनके आने से किसान परिवार की खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा। 60 वर्षीय आदिवासी किसान श्रमिक श्री नेताम ने घर पहुंचने पर परिवार ने पूरी आत्मीयता मुख्यमंत्री का स्वागत तिलक और आरती से किया। मुख्यमंत्री को यहां घर पर बने पारंपरिक छत्तीसगढ़िया व्यजनों का भोजन परोसा गया। जिसमें नगरी का प्रसिद्ध दुबराज चाँवल के साथ उड़द बड़ा, रोटी, अरहर दाल, मुनगा- आलू बड़ी, खट्टा में मूली भाटा, लाल भाजी, चना भाजी, भथुवा भाजी, टमाटर चटनी, आचार व पापड़ का मुख्यमंत्री ने स्वाद लिया। मुख्यमंत्री ने दुबराज चाँवल की खेती सहित अन्य फसल के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने परिवार वालों से बातचीत की और उनका हाल चाल भी पूछा। श्री नेताम ने बताया कि उनके परिवार में कुल 9 सदस्य हैं। उन्हें वनाधिकार पत्र के तहत एक एकड़ जमीन मिली है, जिसमें वे खेती करते हैं। इसके अलावा वे मजदूरी करके जीवन चलाते हैं। मुख्यमंत्री ने स्वादिष्ट और छत्तीसगढ़िया भोजन के लिए श्री नेताम एवं उनके परिवार को धन्यवाद दिया और उपहार भी भेंट किए, उन्होंने परिवार वालों के साथ एक ग्रुप फोटो भी ली।

मुख्यमंत्री के साथ जिले की प्रभारी मंत्री, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया, स्थानीय विधायक श्रीमती लक्ष्मी ध्रुव, शिव प्रसाद नेताम एवं कलेक्टर प्रियंका महोबिया ने भोजन किया। इस अवसर पर श्री नेताम ने कहा कि प्रदेश के मुखिया का हमारे घर आकर सादगी और आत्मीयता के साथ भोजन करना, हम सबके लिए गौरव का पल है। यह पल हमें जिंदगी भर याद रहेगा।