पोस्टमार्टम रिपोर्ट तैयार करने के काम में तेजी लाने फोरेंसिक विभाग में बढ़ाए जाएंगे लिपिकीय स्टॉफ और कम्प्युटर्स की संख्या

 


चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव की अध्यक्षता में हुई पंडित जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय और डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के स्वशासी समिति के सामान्य परिषद की बैठक

रायपुर. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव की अध्यक्षता में आज रायपुर के पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय और डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय के स्वशासी समिति के सामान्य परिषद की बैठक हुई। बैठक में डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल में अभी रि-एजेंट्स की कमी से जांचे नहीं जा पा रहे सैंपलों को रायपुर जिला अस्पताल स्थित ‘हमर लैब’ में जांच के लिए भेजने की सहमति दी गई। सैंपलों की जांच में सहायता के लिए वहां डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के लैब तकनीशियन भेजे जाएंगे। रि-एजेंट्स की व्यवस्था होने के बाद डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के मरीजों के सैंपलों की जांच वापस अस्पताल के लैब में की जाएगी।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल में होने वाले पोस्टमार्टम्स की रिपोर्ट तैयार करने के काम में तेजी लाने के लिए फोरेंसिक विभाग में लिपिकीय स्टॉफ और कम्प्युटर्स की संख्या बढ़ाने की मंजूरी सामान्य परिषद की बैठक में दी गई। सीटीव्हीएस (Cardiothoracic and Vascular Surgery) विभाग में ओपन हार्ट सर्जरी के लिए फिजिशियन असिस्टेंट की नियमित भर्ती होने तक इसकी अस्थाई व्यवस्था की भी सहमति बैठक में दी गई। संसदीय सचिव श्री विकास उपाध्याय, चिकित्सा शिक्षा विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर., रायपुर संभाग के आयुक्त श्री यशवंत कुमार, पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय की डीन डॉ. तृप्ति नागरिया और डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एस.बी.एस. नेताम भी बैठक में शामिल हुए।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सिंहदेव ने सामान्य परिषद की बैठक में मेडिकल कॉलेज और संबद्ध अस्पताल में फायर फाइटिंग सिस्टम की स्थापना के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल में कार्यरत स्टॉफ के बच्चों के लिए जल्द झूलाघर भी शुरू करने को कहा। तीनों पालियों में इसके संचालन के लिए स्टॉफ की नियुक्ति की जाएगी। डीन डॉ. तृप्ति नागरिया ने बताया कि चिकित्सा महाविद्यालय में स्वशासी बजट से पुस्तक एवं जर्नल्स की खरीदी के लिए दस लाख रूपए के क्रय आदेश जारी किए गए हैं। परिषद की पिछली बैठक में इसके लिए 50 लाख रूपए की मंजूरी दी गई थी। उन्होंने बताया कि मेडिकल रिसर्च यूनिट के लिए डेढ़ करोड़ रूपए के उपकरणों की खरीदी का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है।

मेडिकल कॉलेज में आज हुई स्वशासी समिति की बैठक में विगत 28 अक्टूबर 2022 को हुए बैठक के कार्यवाही विवरण के पालन प्रतिवेदन का अनुमोदन किया गया। बैठक में फिजियोलॉजी एवं फार्माकोलॉजी विभाग में कम्प्युटर असिस्टेट लर्निंग सॉफ्टवेयर्स के लिए आठ लाख रूपए, अस्पताल के आपात चिकित्सा विभाग, एमआरडी व अन्य विभागों के लिए दस लाख रूपए के आठ कम्प्युटर पार्ट्स और प्रिंटर्स, प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग के लिए पेडस्ट्रल लैंप एलईडी, सक्शन इलेक्ट्रिक मशीन और ऑटो क्लेव मशीन की खरीदी की भी स्वीकृति प्रदान की गई।

बैठक में अस्पताल में जांच के लिए रि-एजेंट्स की खरीदी और मेडिकल छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास की वैकल्पिक व्यवस्था पर भी चर्चा की गई। सामान्य परिषद की बैठक में डीकेएस सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल की अधीक्षक डॉ. शिप्रा शर्मा, डॉ. विनीत जैन, डॉ. हंसा बंजारा, डॉ. मंजू सिंह, डॉ. के.के. साहू, डॉ. देवप्रिया रथ, फिजियोथेरेपी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रोहित राजपूत, डॉ. देवेन्द्र नायक, श्री कृष्ण कुमार सोनकर, लोक निर्माण विभाग तथा वित्त विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।