इस कंपनी ने खोल दिया दिल, कर्मचारियों को बोनस में मिली चार साल की सैलरी

 

 ताइपे सिटी. दुनिया में आर्थिक मंदी की आशंकाओं के बीच लोगों की नौकरियों पर बनी हुई है। कई बड़ी कंपनियां छटनी कर रही हैं। इसी बीच एक बेहद सुकून देने वाली खबर सामने आई है। ताइवान की एवरग्रीन मरीन कॉर्प अपने कर्मचारियों को शानदार बोनस दे रही है। कंपनी ने कई कर्मचारियों को 50 महीने की सैलरी बोनस के तौर पर देने का फैसला किया है। यानी कर्मचारियों को चार साल से ज्यादा की सैलरी बोनस में ही मिल जाएगी। 

ताइपे की यह कंपनी कर्मचारियों के ग्रेड, काम  और रैंक के आधार पर बोनस देने जा रही है। मामले के जानकार शख्स के मुताबिक कंपनी हर साल कर्मचारियों को अच्छा बोनस देती है। वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर दिया जाने वाला  बोनस कर्मचारियों को प्रदर्शन और कंपनी के मुनाफे पर आधारित होता है। जानकारी के मुताबिक पिछले दो सालों सो एवरग्रीन मरीन का शिपिंग बिजनस कमाल कर रहा है। एक तरफ जहां कोरोना महामारी ने अच्छी-अच्छी कंपनियों की हालत खराब कर दी थी वहीं इस कंपनी की कमाई तेजी से बढ़ी है। 

2022 का मुनाफा 20.7 अरब डॉलर हो सकता है जो कि 2020 के मुनाफे से तीन गुना है। यह भी बताया जा रहा है कि 30 दिसंबर को ही बहुत सारे कर्मचारियों को बोनस मिल गया है। कई कर्मचारियों को 65 हजार डॉलर से ज्यादा की रकम दी गई है।

इस वजह से भी चर्चा में थी कंपनी
एवरग्रीन मरीन कंपनी पहले भी चर्चा में रह चुकी है। दरअसल इसका एक जहाज स्वेज नहर में फंस गया था। जिसके बाद व्यापार करने वाले कई देश परेशान हो गए। यहां से सप्लाई पूरी तरह से ठप हो गई थी। हालांकि कंपनी को कोई बड़ा नुकसान नहीं है। इस कंपनी में शंघाई के भी कई लोग काम करते हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि कंपनी उनके साथ भेदभाव कर रही है। कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें  बोनस के रूप में केवल सैलरी की आठ गुनी रकम ही मिली है। वहीं दूसरी तरफ अन्य कर्मचारियों को 50 महीने की सैलरी दी जा रही है।