स्वरूपानंद महाविद्यालय में युवा उत्सव उड़ान की धूम

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।। 

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में हेमचंद विश्वविद्यालय के निर्देशानुसार युवा उत्सव का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के सभी संकायों के विद्यार्थियों ने हर्षपूर्वक भाग लिया। रंगोली, मेहंदी, पोस्टर, पेंटिंग, कोलाज, एकल एवं समूह गीत, एकल व समूह नृत्य, लघुनाटक, प्रश्नोत्तरी, तात्कालिक भाषण एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

 इस युवा उत्सव में विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्राप्त हुआ। परिचर्चा पर समसामायिक मुद्दों से संबंधित विषय दिये गये जिसमें विद्यार्थियों ने समाज, भ्रष्टाचार, कोरोना, भू्रणहत्या जैसे विषयों पर अपने विचार रखे वहीं आज की ज्वलंत समस्या सामाजिक सौहार्द्र पर भारी सोशल मीडिया पर अपने विचार व्यक्त किये व बताया सोशल मीडिया हमारी गंगा जमुना संस्कृति में फूट डालने का काम कर रहा है तो विपक्ष में बोलते हुए विद्यार्थियों ने कहा सोशल मीडिया सामाजिक सौहार्द्र को बढ़ाने व भाईचारे की भावना विकसित करने का काम कर रहा है।


सम्पूर्ण महाविद्यालय में उत्सव व कलात्मकता का माहौल था। विद्यार्थी अपने पेंटिंग में पर्यावरण संरक्षण के प्रति चिंता व्यक्त करते दिखे तो उन्होंने संरक्षण के उपाय भी बताये। कोलॉज में स्वतंत्रता सेनानी विषय दिया गया जिसमें विद्यार्थियों ने प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों के चित्रों को उकेरा। पोस्टर में 

 घरेलू हिंसा विषय दिया गया था। जिसमें विद्यार्थियों ने महिलाओं पर होने वाले हिंसा उनकी दर्द को अपने केनवास में उतारा व रंगोली में आजादी का अमृत महोत्सव थीम दिया गया था जिसमें विद्यार्थियों ने चावल, दाल, फूल, पत्ती, नारियल के छिलके से मनभावन रंगोली बनाई। वहीं स्कीट प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने एड्स के प्रति जागरूकता फैलाई व सैनिक के जीवन की गाथा को चित्रित किया कि युद्ध के मैदान में जब सैनिक जाता है तो उनकी घर की स्थिति क्या होती है। फौजी जब तिरंगे में लिपटा वापस आता है तो घर वालों के साथ-साथ संपूर्ण देश दुख व करूणा के सागर में डूब जाता है, चित्रित किया। मैं माँ हूं नाटक के माध्यम से बताया। मॉं सब कुछ सहन कर सकती है पर बेटा गद्दार हो जाए आतंकवादी बन जाए तो स्वीकार नहीं कर सकती। अपने बच्चों को स्वयं मार देती है। वहीं जनरेशन गेप व प्रेमविवाह से उत्पन्न समस्याओं को अभिनय किया। एकल व समूह नृत्य में परंपरागत छत्तीसगढ़ परिधान में विद्यार्थियों ने धूम मचाई। चार दिन चलने वाले युवा उत्सव उड़ान में विद्यार्थियों की प्रतिभा को मंच मिला। वे अपने प्रतिभा दिखाने में भी पीछे नहीं रहे। स्वरूपानंद महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारणी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा व प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने चयनित प्रतिभागियों की सराहना की व प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया जिससे वे भविष्य में भी अपनी प्रतिभा को निखारने का प्रयास करते रहें।

युवा उत्सव में चयनित प्रतिभागियों के नाम इस प्रकार हैं-

एकल शास्त्रीय गायन में नीरज देशमुख बी.एड प्रथम सेमेस्टर, एकल शास्त्रीय नृत्य में सपना कुमारी बी.ए तृतीय वर्ष, समूह लोकनृत्य में वेदिका लाड एवं समूह बी. कॉम प्रथम वर्ष में तात्कालिक भाषण में संदीप एम.एस.सी. अंतिम वर्ष, सुगम संगीत में नीरज देशमुख बी.एड प्रथम सेमेस्टर, वाद- विवाद में संदीप व नेहा राय एम.एस.सी अंतिम वर्ष, स्किट में पल्लवी ठाकुर एवं समूह बी.कॉम प्रथम एवं दितीय वर्ष, ऑन द स्पॉट पेंटिंग में अनिशा सिंग बी.एस.सी. अंतिम वर्ष, कोलॉज में वैदेही बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष, पोस्टर मेकिंग में नीरज यादव बी.बी.ए. पंचम सेमेस्टर, प्रश्नोत्तरी में संदीप, विवेक दुबे, विवेक शर्मा एम.एस.सी. अंतिम वर्ष, रंगोली में पुष्पलता बी.एड प्रथम सेमेस्टर व मेहंदी में हर्षिका साहू बी.एड प्रथम सेमेस्टर प्रथम रहे। कार्यक्रम में सभी संकायों के प्राध्यापकों व विद्यार्थियों ने भाग लिया।